नेशनल

4 साल बाद नक्सलियों पर बड़ी कार्रवाई, तेलंगाना-छग बॉर्डर पर 12 ढेर

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1372
| मार्च 2 , 2018 , 18:32 IST

तेलंगाना के जयशंकर भूपालपल्ली जिले में शुक्रवार को पुलिस के साथ मुठभेड़ में कम से कम 12 नक्सली मारे गए और एक पुलिस सिपाही शहीद हो गया। पुलिस ने इस बात की जानकारी दी। इस घटना में नक्सली विरोधी एलीट बल ग्रेहाउंड्स के तीन कर्मी भी घायल हुए हैं। 

शुक्रवार तड़के तेलंगाना-छत्तीसगढ़ सीमा पर स्थित वेंकटपुरम गांव के समीप जंगलों में यह गोलीबारी हुई।

 

दो राज्यों की पुलिस द्वारा चलाए गए संयुक्त अभियान में नक्सलियों को बड़ा आघात पहुंचा है।

यह घटना उस वक्त हुई, जब ग्रेहाउंड्स कर्मियों के साथ पुलिस ने जंगलों में नक्सलियों के मौजूद होने की गुप्त सूचना के आधार पर अभियान शुरू किया। 

उन्होंने गुरिल्लाओं का घेर लिया और उनसे आत्मसमर्पण करने को कहा। हालांकि नक्सलियों ने उनकी बात को अनसुना कर गोलीबारी शुरू कर दी और पुलिस को जवाबी कार्रवाई करने को मजबूर कर दिया।

मारे गए नक्सलियों में प्रतिबंधित समूह के तेलंगाना सचिव हरिभूषण उर्फ अलियास समेत भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के कुछ शीर्ष नेताओं और के शामिल होने की आशंका है। मरने वालों में समूह की छह महिलाएं भी शामिल हैं।

ग्रेहाउंड्स के सिपाही सुशील कुमार इस गोलीबारी में शहीद हो गए। तीन अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए जिन्हें हवाईजहाज से भद्रचलम शहर ले जाया गया है। नक्सलियों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भी श्हर भेजा गया है। 

एक एके 47 राइफल समेत पांच बंदूकें मौके से बरामद की गई है।

कैसे हुआ ऑपरेशन?
 छत्तीसगढ़ पुलिस और ग्रेहाउंड्स फोर्स को जंगल में नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसको लेकर ऑपरेशन चलाया जा रहा था।
इस दौरान फोर्स ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी जवाबी कार्रवाई की।
माना जा रहा है कि तेलंगाना का नक्सली नेता हरिभूषण उर्फ जगन समेत कई टॉप नक्सली कमांडर इस ऑपरेशन में मारे गए।

4 साल में सबसे बड़ी कार्रवाई
2014 में तेलंगाना राज्य के गठन के बाद ये सबसे बड़ी कार्रवाई है।
पिछले साल दिसंबर में पुलिस ने कोठागुडेम जिले में 8 नक्सली मार गिराए थे।
2005 में अविभाजित आंध्र प्रदेश में नक्सल आंदोलन तब शुरू हुआ था जब पुलिस ने बड़े पैमाने पर नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की थी और उनके टॉप कमांडरों को मार गिराया था।


कमेंट करें

Prem

होली हैँ