नेशनल

मुस्लिम ने बनाई 100 फीट ऊँची मां दुर्गा की प्रतिमा, गिनीज बुक में होगी शामिल

icon सतीश कुमार वर्मा | 0
1560
| सितंबर 27 , 2017 , 12:24 IST

असम के गुवाहाटी में दुनिया की सबसे ऊँची माँ दुर्गा की प्रतिमा बनाई गयी है। यह प्रतिमा बांस से बनाई गयी है और इसकी ऊंचाई 100 फीट है। दुनिया की सबसे ऊंची दुर्गा की प्रतिमा को दो बड़ी हाइड्रॉलिक क्रेन के जरिए स्थापित किया गया है। माँ दुर्गा की इस प्रतिमा को 59 वर्षीय नुरुद्दीन अहमद ने बनाया है और उनका ये दावा है कि ये दुनिया की सबसे ऊंची माँ दुर्गा की प्रतिमा है। नुरुद्दीन अहमद का कहना है कि बांस की इस प्रतिमा को गिनिज बुक ऑफ रिकॉर्ड में जरूर जगह मिलेगी।

इस बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि मुझे हिंदू भगवान और देवियों की प्रतिमाएं बनाने में कोई एतराज नहीं है। मैं 1975 से ये करता आ रहा हूं। उन्होंने कहा, 'मैंने मां दुर्गा की सबसे पहली मूर्ति बांस, मिट्टी से बनाई थी। उत्तरी लखीमपुर में एक स्थानीय पूजा कमिटी के लिए वह मूर्ति बनाई गई थी। उसके बाद से ही मैं मां दुर्गा जी के लिए तस्वीरें और प्रतिमाएं बना रहा हूं। मां दुर्गा की इस प्रतिमा को बनाने के लिए नुरुद्दीन ने 5 हजार से अधिक बांस का इस्तेमाल किया है।

Durga under

इस प्रतिमा को बनाने के लिए 100 से ज्यादा लोगों ने अपना योगदान दिया है। इसके अलावा दर्जनों बांस डोला का भी इस्तेमाल किया गया है। पहले 110 फीट ऊंची प्रतिमा बनाए जाने की योजना थी, जिस पर लगातार काम जारी था, पर 17 सितंबर को आए तूफान में पूरा ढांचा गिर गया था। लेकिन इसके बाद नुरुद्दीन और उनके सहयोगियों ने छह दिन के अंदर वापस प्रतिमा को पहले जैसे बना दिया।

जब लगातार 120 घंटे की मेहनत के बाद इस प्रतिमा को स्थापित किया गया तो लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। नुरुद्दीन कहते हैं कि मीडिया समेत कुछ लोग मुझसे पूछते हैं कि मैं मुस्लिम होकर भी मां दूर्गा की प्रतिमा को क्यों बनाता हूं। मेरा कहना है कि मैं असम में पैदा हुआ और यहां भारत के अन्य राज्यों के मुकाबले ज्यादा धार्मिक सहिष्णुता है।


author
सतीश कुमार वर्मा

लेखक न्यूज वर्ल्ड इंडिया में वेब जर्नलिस्ट हैं

कमेंट करें