नेशनल

तमिलनाडु: जंगल में लगी आग में फंसे 9 ट्रैकर्स की मौत, रेस्क्यू में जुटी वायु सेना

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1255
| मार्च 12 , 2018 , 14:01 IST

तमिलनाडु के थेणी जिले के एक जंगल में लगी भीषण आग में 20 स्टूडेंट्स फंस गए हैं। समाचारों के मुताबिक 9 ट्रैकर्स की मौत की खबर है हालांकि आंकड़े कम या ज्यादा हो सकते हैं। उधर, बचाव अभियान तेज कर दिया गया है। फंसे छात्रों को बाहर निकालने के लिए जिला प्रशासन ने एयर फोर्स की सहायता ली है।

यह हादसा रविवार को थेणी जिले में कुरंगानी के पास एक टॉप स्टेशन पर हुआ। स्टूडेंट्स का एक ग्रुप ट्रेकिंग के रोमांच के लिए यहां पर गया हुआ था, जिस दौरान जंगल में आग लग गई। थेणी के जिला कलेक्टर पल्लवी बलदेव ने बताया कि राहत कार्य जारी है।

मदुरै सर्कल के वन संरक्षक आर. के. जेगानिया ने बताया , 'कॉलेज के स्टूडेंट्स शाम करीब 4 बजे आग में फंस गए। फंसी हुई एक स्टूडेंट ने अपने पिता को फोन से घटना की जानकारी दे दी, जिन्होंने फौरन वन विभाग को अलर्ट किया। स्टूडेंट्स ने ट्रेकिंग के लिए इजाजत नहीं ली थी। हमने बचाव अभियान के लिए 40 जवानों को घटनास्थल पर भेज दिया है।'

आग में फंसे स्टूडेंट ने पिता को दी थी जानकारी-:

-: जानकारी के मुताबिक, ट्रैकिंग के दौरान जंगल में आग के बीच फंसे एक स्टूडेंट ने वहां अचानक आग लगने की जानकारी अपने पिता को फोन किया और फिर ये सूचना वन विभाग को मिली।

स्टूडेंट्स को निकालने के लिए फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने भी अपने 40 लोग लगा रखे हैं। जख्मियों को जिला अस्पताल में इलाज जारी है। 13 एम्बुलेंस को इस काम में लगाया गया है। वहीं गंभीर रूप से घायलों को बेहतर इलाज के लिए मदुरई के सरकारी अस्पताल में ले जाने की बात सामने आई है।

इसे भी पढ़ें-: जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग मुठभेड़ में सेना ने 3 आतंकियों को किया ढेर

मौत को लेकर अब भी स्थिति साफ नहीं-:

कलेक्टर पल्लवी बल्देव के मुताबिक, "अब तक ट्रेकिंग मैंबर में से किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। हालांकि, रेस्क्यू टीम ने एक ट्रेकर की आग में जलकर मौत होने की बात कही थी। बाद में ये बात सामने आई कि वह ट्रैकर महज बेहोश हुआ था और उसे मेडिकल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। सभी के पहाड़ी से सुरक्षित आ जाने के बाद ही साफतौर पर कुछ कहा जा सकेगा।"

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भेजी मदद-:

-: हादसे की खबर मिलने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री ई. पलानीसामी ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से एयरफोर्स की मदद मांगी थी।

-: सीतारमन ने ट्वीट कर बताया कि उन्हें सीएम ने इस घटना की जानकारी दी है, और उन्होंने एयरफोर्स को स्टूडेंट की मदद करने और उन्हें निकालने के निर्देश दे दिए हैं। उन्होंने लिखा कि वे लगातार थेनी जिला कलेक्टर के संपर्क में हैं। आग में फंसे और स्टूडेंट्स को बचाने का काम चल रहा है।


कमेंट करें