खेल

24 साल बाद नवाबों के शहर लखनऊ में हो रहा है अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच

राजू झा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1602
| नवंबर 6 , 2018 , 16:57 IST

दीपावली के पूर्व संध्या पर लखनऊ में 24 साल बाद गुंजेगा चौके-छक्के की गूंज। यह पहला मौका होगा कि राजधानी के नए नवेले इकाना इंटरनेशनल स्टेडियम (अब अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम) में भारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाले दूसरे टी-20 क्रिकेट मुकाबले का, जिसके गवाह होंगे नवाबों के शहर के करीब 50 हजार क्रिकेट प्रेमी।

यह स्टेडियम भारत का 22वां स्टेडियम है, जहां टी-20 इंटरनेशनल मुकाबला होगा। उसके बाद यह भारत का 52वां अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम बन जाएगा। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की राजधानी में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की मेजबानी का पिछले लगभग ढाई दशक से चला आ रहा सूखा भी खत्म हो जाएगा।

W-8_555_110518070242

लखनऊ में आखिरी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच जनवरी 1994 में भारत और श्रीलंका के बीच केडी सिंह बाबू स्टेडियम में टेस्ट मैच के रूप में खेला गया था। इसके बाद सारे अंतरराष्ट्रीय और आईपीएल मैच कानपुर में आयोजित किए गए। लखनऊ के अत्याधुनिक इकाना स्टेडियम में मैच देखने के लिए दर्शकों में खासा उत्साह है। स्टेडियम की क्षमता 50 हजार दर्शकों की है। इस स्टेडियम में नौ पिच हैं।

1994 में लखनऊ में भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए इस मैच में मेहमान टीम को मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने पारी और 119 रनों से मात दी थी। इस मैच में भारतीय टीम के प्रमुख खिलाड़ी थे नवजोत सिंह सिद्धू, सचिन तेंदुलकर, मोहम्मद अजहरुद्दीन, संजय मांजरेकर, विनोद कांबली, कपिल देव और अनिल कुंबले।

W-5_555_110518070241

इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 511 रन बनाए। टीम इंडिया की तरफ से नवजोत सिंह सिद्धू ने 124 रन और सचिन तेंदुलकर ने 142 रन बनाए। इस मुकाबले में टीम इंडिया की तरफ से अनिल कुंबले ने घातक गेंदबाजी करते हुए मैच में कुल 11 विकेट चटकाए। श्रीलंका की पहली पारी 218 रनों पर सिमट गई। जबकि दूसरी पारी में श्रीलंकाई चीते 174 रनों पर ढेर हो गए और भारत पारी और 119 रनों से यह मैच जीत गया।

W-4_555_110518070241

भारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाले दूसरे टी-20 की बात करें तो यह मैच लो-स्कोरिंग होने की उम्मीद है। एक स्थानीय क्यूरेटर के अनुसार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के लिए 130 से अधिक का स्कोर विजयी स्कोर साबित हो सकता है। क्यूरेटर के अनुसार, ‘पिच के दोनों तरफ लंबी सूखी घास है और बीच में पिच टूटी हुई है। यह धीमे उछाल वाली पिच है और शुरुआत से ही स्पिनरों के बड़ी भूमिका निभाने की उम्मीद है।


कमेंट करें