नेशनल

बड़ा आंदोलन: मुंबई की सड़कों पर 40 हजार अन्नदाता, 12 मार्च को घेरेंगे विधानसभा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1920
| मार्च 11 , 2018 , 19:57 IST

पूर्ण कर्ज माफी और अन्य मांगों को लेकर महाराष्ट्र के 35 हजार किसान विधानसभा का घेराव करने जा रहे हैं। पैदल रैली निकाल रहे ये लोग 12 मार्च को मुंबई पहुंचेंगे। अपनी यात्रा के चौथे दिन यह काफिला शनिवार को ठाणे के शाहपुर पहुंच गया, जहां कई किसानों की तबीयत बिगड़ने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। यह रैली ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) के आह्वान पर निकाली जा रही है।

नासिक से शुरू हुई किसानों की रैली

किसानों की यह रैली बुधवार को नासिक से शुरू हुई। रात वासिंद में रुकी और शनिवार को ये लोग ठाणे पहुंचे। ये हर दिन 30 किलोमीटर चल रहे हैं। इस तरह इन्हें नासिक से मुंबई (180 किलोमीटर) तक का सफर तय करने में 6 दिन का वक्त लगेगा। ये 12 मार्च को मुंबई पहुंचेंगे।

क्या है किसानों की मांगें

किसानों के नेता और एआईकेएस सचिव राजू देसले के मुताबिक, किसानों ने पूर्ण ऋणमाफी और बिजली बिल माफी के अलावा स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने की मांग रखी है। उन्होंने कहा, "बीजेपी सरकार ने किसानों से किए गए वादों को पूरा न करके उनके साथ धोखा किया है।

हम यह भी चाहते हैं कि सरकार विकास, हाईवे और बुलेट ट्रेन के नाम पर जबर्दस्ती किसानों की जमीन छीनना बंद कर दे।"
पिछले साल राज्य की बीजेपी सरकार ने सशर्त किसानों का 34 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफी करने का एलान किया था। इसके बाद जून से अब तक 1753 किसानों ने खुदकुशी कर ली है।"

सरकार ने किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया

राज्य में खेती की हालत खराब हो रही है। किसानों में नाराजगी बढ़ रही है। इसे देखते हुए फडणवीस सरकार ने इस बार के बजट में किसानों के लिए 75 हजार 909 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।


कमेंट करें