नेशनल

दिल्ली: 2 साल तक भाई ने बहन को घर में रखा कैद, DCW ने किया रेस्क्यू

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2156
| सितंबर 19 , 2018 , 11:27 IST

देश में महिला सुरक्षा और महिला सशक्तिकरण के बड़े-बड़े दावों के बीच राजधानी दिल्ली से एक भाई के ऐसा अमानवीय चेहरा सामने आया है। इस शख्स ने अपनी बहन को 2 साल से घर में कैद कर रखा था। पीड़ित महिला की उम्र 50 साल है। दिल्ली महिला आयोग ने रोहिणी के एक घर से पीड़ित महिला को छुड़ाया। महिला को उसके भाई ने 2 साल से घर में कैद करके रखा था।  

दिल्ली महिला आयोग को मामले की शिकायत मिली। शिकायत पर त्वकित कार्यवाई करते हुए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल अपनी टीम के साथ रोहिणी पहुंची। जब आयोग की टीम ने घर के मालिक से घर खोलने को कहा तो भाई की पत्नी ने गेट खोलने से मना कर दिया. उसने आयोग के लोगों को गालियां देना शुरू कर दिया। आयोग और पुलिस की टीम फिर उस घर पर पहुंचे मगर उस महिला ने गेट खोलने से इनकार कर दिया और पुलिस को भी गालियां दीं।

गेट नहीं खुलने पर दिल्ली महिला आयोग की टीम ने पड़ोसी की छत से होकर उस घर में दाखिल हुई और पीड़ित महिला को बचाया। जिस दौरान महिला को रेसक्यू किया गया तब वह घर में फर्श पर पड़ी हुई थी। ये कितना भयावह था इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि उसका भाई पिछले दो साल से अपनी बहन को चार दिन में एक ब्रेड ही खाने को देता था।

स्वाति मालिवाल ने कहा कि जिस तरह से इस महिला को अमानवीय तरीके से रखा, उसको देख कर मुझे बहुत धक्का लगा. अभी वह केवल 50 साल की है, जबकि देखने में उसकी उम्र 90 वर्ष से ज्यादा लग रही है। वह इतनी ज्यादा लाचार थी कि वह खुद का ख्याल रखने में भी असमर्थ थी. इतने दिनों तक वह खुली छत पर अपनी गन्दगी में ही पड़ी रहती थी। महिला के भाई और उसकी पत्नी को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए और उन पर मुकदमा चलाना चाहिए.

मामले में रोहिणी सेक्टर-7 थाने में एफआईआर दर्ज हो गई है। दिल्ली महिला आयोग की टीम महिला को रोहिणी के अम्बेडकर हॉस्पिटल लेकर आई, जहां उसका इलाज चल रहा है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल और सदस्या किरण नेगी महिला से अस्पताल में मिलीं।


कमेंट करें