विज्ञान/टेक्नोलॉजी

मेरठ की हर्षिता के 'क्रिप्टो ऐप' ने iOS पर मचाई धूम, US की टॉप पेड ऐप में शामिल

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2244
| फरवरी 24 , 2018 , 17:37 IST

उत्तर प्रदेश के मेरठ की 16 साल की हर्षिता अरोरा का बनाया आईफोन ऐप सबसे पसंदीदा पेड ऐप्स में से एक बन गया है। हर्षिता ने इसी साल 28 जनवरी को अपना 'क्रिप्टो प्राइस ट्रैकर' ऐप लॉन्च किया था। जो 32 देशों में यूजर्स को 1000 से ज्यादा क्रिप्टो करंसीज की वैल्यू में हो रहे बदलाव के बारे में बताता है।

ट्विट साभार: द टाइम्स ऑफ इंडिया

हर्षिता के पिता स्थानीय फाइनेंसर हैं और मां गृहणी है। हर्षिता ने 14 साल की उम्र में ही स्कूल छोड़ दिया था, क्योंकि उसके पास सामान्य कोर्सेस के लिए समय नहीं था। न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया के साथ खास बातचीत के दौरान हर्षिता ने बताया कि उसके 'फंडामेंट्ल्स' पहले से ही सुलझे थे।

कभी भी कॉमन कोर्स पर नहीं रहा ध्यान

हर्षिता ने कहा, ''मैं भारत में शिक्षा को कमतर नहीं आंकती लेकिन ये कॉमन कोर्सेज मेरे लिए नहीं हैं। मेरे कम्प्यूटर टीचर ने मुझे तकनीक की एक नई दुनिया से रूबरू कराया। मैं जो करना चाहती हूं वह मुझे वर्तमान शिक्षण व्यवस्था में नहीं मिलेगा। स्कूलों में कम्प्यूटर को भी महत्व देना चाहिए।

2016 में क्रिप्टोकंरसी के बारे में सुनने वाली हर्षिता ने इस ऐप पर करीब 20 नवंबर 2017 से काम शुरू कर दिया था। हर्षिता बताती है कि ये राह आसान नहीं थी। जब आईओएस प्लैटफॉर्म पर डिजाइनिंग के बारे में सीखना शुरू कियो तो लोगों को लगता था कि इतनी कम उम्र में कोई लड़की ऐप डिवेलप कर भी ले, तो उसे चला नहीं पाएगी।

MIT से ले चुकी हैं एंटप्रन्योरशिप ट्रेनिंग

शहर के पाइनवुड स्कूल में क्लास 8 तक पढ़ने वाली हर्षिता को 13 साल की उम्र में अपने कम्प्यूटर टीचर से प्रभावित होकर डिजाइनिंग और आईटी मैगजीन्स पढ़ने में दिलचस्पी लेने लगी थी। इसके बाद उन्होंने 2016 में बैंगलोर के सेल्सफोर्स में इंटर्नशिप की। जिसके बाद उन्हें मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) में चार हफ्ते के एंटप्रन्योरशिप प्रोग्राम में हिस्सा लेने का मौका मिला था। जहां से उन्हे इस ऐप को बनाने विचार आया था। इसके लिए हर्षिता ने स्विफ्ट प्रोग्राम भी सीखा।

अमेरिका और कनाडा का दूसरे नंबर का फाइनेंस एप

ऐप्पल स्टोर पर ऐप के लॉन्च के 24 घंटे के भीतर यह अमेरिका और कनाडा का दूसरे नंबर का फाइनेंस ऐप बन गया है। पहले दिन इस ऐप को 240 लोगों ने डाउनलोड किया था, वहीं एक सप्ताह के भीतर इसकी संख्या बढ़कर 1000 हो गई थी। इस ऐप 500 डॉलर का निवेश किया गया था।


कमेंट करें