नेशनल

इंदौर: अवैध प्रयोगशाला में मिला खतरनाक केमिकल, ले सकता है 40-50 लाख लोगों की जान

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1993
| सितंबर 30 , 2018 , 13:35 IST

डायरेक्ट्रेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) एक हफ्ते से एक सर्च अभियान चला रही है। जिसमें DRI के हाथ बड़ी सफलता उस समय लगी जब टीम इंदौर की एक अवैध लेबोरेटरी से 9 किलो घातक केमिकल फेंटानिल बरामद कर लिया। डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट स्टैब्लिशमेंट के वैज्ञानिकों की मदद से चलाए गए इस अभियान में 9 किलो फेंटानिल बरामद की गई है। घातक ड्रग की इतनी मात्रा में 40-50 लाख लोगों को मारने की क्षमता बताई जा रही है।

4

इस अवैध प्रयोगशाला को एक स्थानीय व्यवसायी और 'अमेरिका विरोधी' पीएचडी स्कॉलर केमिस्ट द्वारा चलाया जा रहा है। भारत में फेंटानिल की जब्ती का यह पहला मामला है। इस जब्ती ने दिल्ली तक को चिंतित कर दिया है क्योंकि किसी भी केमिकल युद्ध जैसी स्थिति में इसका इस्तेमाल भारी पैमाने पर नुकसान पहुंचाने के लिए किया जा सकता था।

3

TOI में छपी खबरों के मुताबिक ठीक वैसे ही जैसे एलिस्टेयर मैकलीन की थ्रिलर 'Satan Bug' के प्लॉट में दिखाया गया है। इस मामले में एक मेक्सिकन नागरिक को भी गिरफ्तार किया गया है।

2

Synthetic Opioid, Fentanyl काफी घातक माना जाता है। अवैध लेबोरेटरी को एक पीएचडी स्कॉलर और स्थानीय बिजनेसमैन चलाता था। मामले में मेक्सिको के एक नागरिक को भी गिरफ्तार किया गया है। फेंटानिल हेरोइन से 50 गुना अधिक शक्तिशाली होता है, सूंघने से भी मौत हो सकती है।

1

खुलासे से कई साइंटिस्ट भी हैरान हो गए हैं, क्योंकि इस केमिकल को तैयार करने के लिए काफी ट्रेनिंग की जरूरत पड़ती है। इसका इस्तेमाल मेडिकेशन में भी होता है। यह ड्रग आसानी से फैल सकता है। अगर स्किन के जरिए या गलती से सूंघ लेने से यह ड्रग शरीर में चला गया तो इसकी मात्र 2मिलीग्राम मात्रा ही व्यक्ति को मारने में सक्षम है।

5

भारतीय अधिकारी अब 4ANPP केमिकल की खरीद को ट्रैक कर रहे हैं जिसका उपयोग घातक फेंटानिल बनाने में तिया जाता है। हाल तक इसे स्मगलिंग कर चीन से लाया जाता था लेकिन इसकी जानकारी नहीं मिली है कि यह भारत के अवैध बाजारों तक कैसे पहुंच गया। सूत्रों का कहना है कि एक दूसरे केमिकल NPP का इस्तेमाल कर भी फेंटानिल बनाया जा सकता है लेकिन इसके लिए एडवॉन्स स्किल की जरूरत होती है।


कमेंट करें