राजनीति

केजरीवाल की रैली में 'आप' के विधायक ने कहा, ऐसे अधिकारियों को ठोकना चाहिए

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
924
| फरवरी 23 , 2018 , 16:47 IST

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि आप के विधायक नरेश बालियान के बयान पर हंगामा खड़ा हो सकता है। दिल्ली के उत्तमनगर में अरविंद केजरीवाल की एक रैली में नरेश बालियान ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ किए गए सलूक को सही ठहराते हुए ऐसे अधिकारियों को 'ठोकने' की बात कही।

लोगों को संबोधित करते हुए नरेश बालियान ने कहा,

जो चीफ सेक्रटरी के साथ हुआ, जो उन्होंने झूठा आरोप लगाया, मैं तो कह रहा हूं कि ऐसे अधिकारियों को ठोकना चाहिए। जो आम आदमी के काम रोक कर बैठे हैं, ऐसे अधिकारियों के साथ यही सलूक होना चाहिए। जो अधिकारी आम जनता के काम में रुकावट डालते हैं, उनको पीटना सही है।

नरेश बालियान ने कहा कि दिल्ली में सत्तासीन केजरीवाल सरकार को काम नहीं करने दिया जा रहा है। अधिकारियों के कारण जनता का काम बाधित हो रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार सिर्फ अधिकारियों के कारण ही जनता की उम्मीदों पर खरी नहीं उतर पा रही है।

इसी रैली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी फाइलों को रोक दिया जाता है और बस घुमाया जाता है। अगर अफसरों को कुछ कह दो तो इन्हें बुरा लगता है। केजरीवाल ने कहा कि अंदर बैठकर मैं लोगों के लिए रोज लड़ता हूं, मैं बीजेपी-केंद्र-पुलिस-एलजी-कांग्रेस से लड़ाई करता हूं।

उधर, मारपीट के इस मामले में दो विधायकों की गिरफ्तारी के बाद जांच आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास को खंगाला गया। इस दौरान कई सीसीटीवी कैमरों के फुटेज जब्त किए गए। पुलिस जांच में जो सबसे अहम बात सामने आई है वह है सीसीटीवी कैमरों का 40 मिनट पीछे होना। सीएम हाउस में मौजूद 21 में से महज 14 कैमरे ही चल रहे थे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पहली बार मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की पिटाई मामले पर बयान दिया। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस इस मामले की जितनी गंभीरता से जांच कर रही है उतनी गंभीरता जस्टिस लोया मामले में भी होनी चाहिए। उन्होंने दिल्ली पुलिस पर जमकर हमला किया और उसके कामकाज के तरीके को लेकर भी सवाल खड़े किए।


कमेंट करें