नेशनल

दिल्ली HC आज करेगा आप के 20 'अयोग्य' विधायकों की याचिका पर सुनवाई

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
751
| जनवरी 22 , 2018 , 11:12 IST

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा आम आदमी पार्टी (आप) के 20 विधायक अयोग्य करार दिए जाने के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट आज एक याचिका पर सुनवाई करेगा। इस याचिका में पार्टी के सभी अयोग्य विधायकों के फैसले पर रोक लगाने की मांग की गई है। राष्ट्रपति की मंजूरी के एक दिन बाद दिल्ली हाईकोर्ट में इस पर सुनवाई हो रही है। उन्होंने रविवार (21 जनवरी) को चुनाव आयोग की ओर से की गई सिफारिश को मंजूरी दे दी थी। 

इस मामले में चुनाव आयोग के फैसले पर राष्ट्रपति की मुहर लगने की जानकारी मिलने के बाद आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने कहा कि इस मामले में सोमवार को हाई कोर्ट में सुनवाई है। वह इस फैसले के खिलाफ जरूरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाएंगे। इस मामले में उन्हें राष्ट्रपति से न्याय की उम्मीद थी। पार्टी ने राष्ट्रपति से मुलाकात का समय भी मांगा था। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि राष्ट्रपति ने हमें अपनी बात रखने का मौका ही नहीं दिया।

कानून मंत्रालय का नोटिफिकेशन-

शनिवार को चुनाव आयोग ने लाभ के पदों को लेकर दिल्ली सरकार के 20 विधायकों की सदस्यता खत्म करने की सिफारिश करते हुए राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखी थी। रविवार को लाभ का पद मामले में आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को राष्ट्रपति ने अयोग्य घोषित कर दिया है। केंद्रीय कानून मंत्रालय ने इन विधायकों की अयोग्यता का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

बता दें कि चुनाव आयोग ने राष्ट्रपित से सिफारिश की थी कि आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों ने 13 मार्च, 2015 से 8 सितंबर, 2016 तक लाभ का पद रखा था। आम आदमी पार्टी ने अपने 21 विधायकों को दिल्ली सरकार के विभिन्न मंत्रालयों में संसदीय सचिव नियुक्त किया था। इन 21 विधायकों में से एक विधायक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था इसलिए चुनाव आयोग का फैसला 20 विधायकों पर लागू होता है।

क्यों रद्द हुई सदस्यता-

साल 2015 फरवरी में दिल्ली विधानसभा चुनावों में 70 में से 67 सीटें जीतने वाली आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद अरविंद केजरीवाल ने पार्टी के 6 विधायकों को मंत्री बनाया था। थोड़े दिन बाद सीएम ने 21 विधायकों को दिल्ली सरकार के विभिन्न मंत्रालयों में संसदीय सचिव बना दिया था। इसी साल चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों को संसदीय सचिव बनाए जाने के खिलाफ दायर की गई याचिका पर सुनवाई शुरू की थी। सुनवाई के दौरान ही आम आदमी पार्टी के 21 में से एक विधायक जरनैल सिंह (राजौरी गार्डन) इस्तीफा दे दिया था। इसलिए उनके खिलाफ दायर मामला खत्म हो गया था।

ये भी पढ़ें-पीएम मोदी ने दिए संकेत, कहा- आम आदमी को खुश करने वाला नहीं होगा बजट

20 विधायकों पर मामला चलता रहा। अब जब चुनाव आयोग ने इस मामले में सुनवाई पूरी करके अपना फैसला सुना दिया है। आयोग के फैसले के खिलाफ यह विधायक हाईकोर्ट में अपील कर सकते हैं। हालांकि, चुनाव आयोग के इस कदम को दिल्ली उच्च न्यायालय में चुनौती देने वाले पार्टी विधायकों को फिलहाल अदालत से कोई राहत नहीं मिल पाई थी।

ये हैं अयोग्य करार दिए गए 'आप' के 20 विधायक-
आदर्श शास्त्री
अलका लांबा
संजीव झा
कैलाश गहलोत
विजेंदर गर्ग
प्रवीण कुमार
शरद कुमार चौहान
मदन लाल
शिव चरण गोयल
सरिता सिंह
नरेश यादव
राजेश गुप्ता
राजेश ऋषि
अनिल कुमार बाजपेई
सोम दत्त
अवतार सिंह
सुखबीर सिंह
मनोज कुमार
नितिन त्यागी
जरनैल सिंह


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें