अभी-अभी

पंचशील सिद्धांतों पर भारत के साथ चलने को तैयार है चीन: पीएम मोदी से बोले जिनपिंग

| 0
583
| सितंबर 5 , 2017 , 11:40 IST

डोकलाम विवाद के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता हुई। मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में डोकलाम विवाद पर चर्चा नहीं होगी। क्योकि विवाद सुलझ चुका है। इससे पहले ब्रिक्स सम्मेलन के दूसरे दिन भी पीएम मोदी ने आतंकवाद का जिक्र किया। पीएम मोदी ने ब्रिक्स के देशों से साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की अपील की। इतना ही नहीं लगातार पीएम मोदी आतंकवाद पर ब्रिक्स के मंच से हमला बोल रहे थे।

दोनों दिग्गजों के बीच हुई वार्ता में चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा कि, भारत-चीन दोनों बड़े पड़ोसी देश हैं। इसके साथ ही हम दोनों दुनिया के सबसे बड़े और उभरते हुए देश हैं। उन्होंने कहा कि वह भारत के साथ मिलकर पंचशील समझौते के 5 सिद्धांतों पर साथ चलने को तैयार हैं।

वहीं पीएम मोदी ने कहा कि तेज गति से बदलते वैश्विक परिवेश में ब्रिक्स को ताकतवर बनाने में ये समिट काफी मददगार होगा साथ ही ब्रिक्स समिट की सफलता पर बधाई दी। इस मौके पर उन्होंने गोवा में हुए ब्रिक्स सम्मेलन का भी जिक्र किया। इससे पहले पीएम मोदी ने 'डायलॉग ऑफ इमरजिंग मार्केट एंड डेवलपिंग कंट्रीज' कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि, आतंकवाद से लड़ने के लिए हमें मिलकर कदम उठाने की जरूरत है। इसके अतिरिक्त साइबर सुरक्षा और आपदा प्रबंधन जैसे क्षेत्रों में हमें एक-दूसरे का सहयोग करना चाहिए।

Narendra-modi-xi-jinping

क्या है डोकलाम विवाद?

बता दें कि डोकलाम के विवादित स्थान पर चीनी सेना द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण को भारतीय सैनिकों ने रोका। जिसके बाद दोनों देशों की सेना आमने-सामने आ गई। यह विवाद 16 जून को शुरू हुआ और 28 अगस्त को डोकलाम में तैनात सेना को दोनों देशों ने वापस बुलाने का निर्णय लिया। दरअसल, इस मामले में भारत के साथ भूटान भी चीन के खिलाफ था।


author

कमेंट करें