राजनीति

जयंत सिन्हा के बाद गिरिराज सिंह दंगों के आरोपियों से मिलने पहुंचे जेल, नीतीश सरकार पर कसा तंज

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1830
| जुलाई 8 , 2018 , 19:55 IST

एनडीए सरकार में केन्द्रीय मंत्री जंयत सिन्हा की मॉब लिन्चिंग के आरोपियों से मुलाकात का मामला अभी थमा नहीं था कि अब केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बिहार दंगों के आरोपियों से मिलने नवादा जेल पहुंच गए। इन आरोपियों में बजरंग दल के जितेंद्र प्रताप और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता कैलाश विश्वकर्मा भी शामिल हैं।

 

सिंह ने शनिवार को करीब 30 मिनट तक इन आरोपियों से बातचीत की। इससे पहले केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने मॉब लिन्चिंग के आरोपियों को माला पहनाकर सम्मानित किया था। उन्होंने गौ रक्षा के नाम पर एक मुस्लिम व्यक्ति की हत्या कर दी थी।

जेल में अपराधियों का हालचाल पूछने गए गिरिराज सिंह ने कहा कि वह उनके जेल में होने से बेहद दुखी हैं। इन लोगों को फंसाया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा और कहा कि राज्य सरकार हिंदुओं को दबाने की मानसिकता रखती है। उन्होंने कहा, 'जिस तरह से जीतू जी और कैलाश जी को फंसाया गया है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। जब साल 2017 में रामनवमी के दौरान तनाव हुआ था तो उन्होंने ही क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहौल रखने के लिए प्रयास किया। अकबरपुर में जब मां दुर्गा की प्रतीमा तोड़ी गई तब भी उन्होंने ऐसा ही किया।'

Giri

इस दौरान गिरिराज सिंह काफी भावुक दिखे और रो पड़े। उन्होंने नवादा में बजरंग दल एवं विहिप के गिरफ्तार कार्यकर्ताओं के परिजनों से मुलाकात के बाद प्रशासन पर जमकर भड़ास निकाली और कहा कि जिसने शांति बहाल करने में अहम भूमिका निभाई उसे ही पूरे मामले में फंसाया गया।

पुलिस ने इस कार्रवाई से लोगों को उकसाने का काम किया है। शासन-प्रशासन को लगता है कि बहुसंख्यकों को दबाने से सामाजिक सद्भाव कायम होगा। केंद्रीय मंत्री ने दंगा भड़काने के आरोप में जेल गए बजरंग दल के संयोजक जितेंद्र प्रताप जीतू के परिजनों से मुलाकात की।

यहां देखें वीडियो


कमेंट करें