नेशनल

अगस्ता वेस्टलैंड के बिचौलिए क्रिश्चन मिशेल को लाया जाएगा भारत, दुबई कोर्ट ने दी मंजूरी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1793
| सितंबर 19 , 2018 , 08:58 IST

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर मामले में भारत को बड़ी सफलता मिली है। दुबई की अदालत ने इस सौदे के बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को प्रत्यर्पित करने का आदेश दे दिया है। अदालत के इस फैसले से मिशेल के भारत प्रत्यर्पण का रास्ता साफ हो गया है। लेकिन इस मामले में सवालों के घेरे में आती रही कांग्रेस की मुश्किलें अब काफी बढ़ जाएंगी। ये सौदा 3600 करोड़ रुपये में हुआ था।

मामले की जांच कर रहे सीबीआई और ईडी के लिए बेहद अहम माना जा रहा है। ईडी ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ दायर अपने आरोप-पत्र में आरोप लगाया था कि उसने अगस्ता वेस्टलैंड से करीब 225 करोड़ रुपये प्राप्त किए। ईडी ने कहा था कि यह पैसा और कुछ नहीं, बल्कि कंपनी द्वारा 12 हेलीकॉप्टरों के समझौते को अपने पक्ष में कराने के लिए वास्तविक लेन-देन के 'नाम पर' दी गई 'रिश्वत' थी।

दुबई की अदालत में सुनवाई के दौरान मिशेल ने कहा कि उन्हें भारत में राजनीति के चलते निशाना बनाया जा रहा है। हालांकि कोर्ट ने उसके इस तर्क को अस्वीकार कर दिया है। मिशेल के वकील ने कोर्ट में कहा, 'यह एक राजनीतिक अपराध है जिसमें राजनीतिक दल शामिल हैं। मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा है। मैने कोई घूस नहीं ली है। इस पर कोर्ट ने कहा, 'यह पर्याप्त बचाव नहीं है और खारिज किया जाता है।

आपको बता दें कि फरवरी 2017 में मिशेल को यूएई में गिरफ्तार कर लिया गया था। मिशेल के वकील ने आरोप लगाया था कि केंद्रीय जांच ब्यूरो उनके मुवक्किल पर दबाव बना रही है। हालांकि जांच एजेंसी ने इन आरोपों से साफ इन्कार किया था।

आपको बता दें कि यूपीए सरकार के समय बिचौलियों ने भारतीय वायुसेना के अफसरों को प्रभावित करने की कोशिश की। कहा जाता है कि इसके बाद ही हेलिकॉप्टर खरीदने की एक अनिवार्य शर्त में छूट दी गई। वर्ष 2005 में हेलिकॉप्टर की उड़ान की ऊंचाई की सीमा 6000 मीटर से कम करके 4500 मीटर कर दी गई थी।


कमेंट करें