नेशनल

एयर इंडिया की फ्लाइट में चूहे का कोहराम, 9 घंटे लेट हुई फ्लाइट

icon कुलदीप सिंह | 0
314
| अगस्त 28 , 2017 , 12:37 IST

अपनी लचर व्यवस्थाओं के लिए प्रसिद्ध एयर इंडिया एक बार फिर सुर्ख़ियों में है। दरअसल दिल्ली से अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को जाने वाली फ्लाइट (AI-173) चूहे के कारण नौ घंटे देर से रवाना हुई।  रविवार को एयर इंडिया बोइंग 777 एयरपोर्ट से उड़ान भरने ही वाली थी कि फ्लाइट में चूहा दिखाई दिया। यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फ्लाइट को वापस टर्मिनल पर लाया गया और उसमें कीटनाशक दवाई का उपयोग किया गया।

इस फ्लाइट का निर्धारित समय रविवार तड़के ढाई बजे का था। एयर इंडिया के चेयरमेन ने फ्लाइट का इतनी देरी से उड़ना गंभीर मुद्दा बताया।

इस घटना का पूरा विवरण देते हुए एयर इंडिया ने बताया कि कैसे चूहा फ्लाइट के अंदर घुसा और कैसे भविष्य में ऐसी परेशानी से निपटा जाएगा। एयर इंडिया के मुताबिक विमान यात्रियों से भरा हुआ था। जैसे ही फ्लाइट उड़ान भरने की तैयारी करने लगी क्रू को एक चूहा नजर आया।

वेबसाइट टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार इसके बाद फ्लाइट को वापस टर्मिनल पर लाया गया और यात्रियों को उसमें से उतार दिया गया। इसके बाद फ्लाइट में कीटनाक्षक धुएं का छिड़काव किया गया। इस प्रक्रिया के बाद यह सुनुश्चित किया गया कि चूहा फ्लाइट से निकल चुका है।

इसके बाद करीब छह घंटों तक अधिकारियों को फ्लाइट के लिए दो कमांडर और दो को-पायलट्स ढूंढने में समय लग गया क्योंकि पहले वाले क्रू की ड्यूटी का समय खत्म हो गया था और इतने लंबे समय तक फ्लाइट को किसी कारणवश रोके रखने पर पहला वाला क्रू काम नहीं करता है। इस सारी प्रक्रिया में फ्लाइट को उड़ान भरने में पूरे नौ घंट लग गए। वहीं इस देरी के कारण यात्री नाखुश थे।

फ्लाइट में किसी चूहे के होने पर इलेक्ट्रिक तारों के काटने या फिर अन्य जरूरी उपकरणों के तारों को काटने की आशंका रहती है। एक सीनियर कमांडर ने बताया,

'किसी एयरक्राफ्ट में यदि चूहा पाया जाता है तो वह किसी बड़े हादसे का सबब भी बन सकता है। यदि वह इलेक्ट्रिक वायर्स को काट ले तो पायलटों का विमान के किसी सिस्टम पर कोई नियंत्रण ही नहीं रह जाएगा।'


author
कुलदीप सिंह

Executive Editor - News World India. Follow me on twitter - @KuldeepSingBais

कमेंट करें