बिज़नेस

घाटे से उबरने के लिए एअर इंडिया ने खोजा नया तरीका, अब बेचेगी कबाड़

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
654
| सितंबर 25 , 2017 , 15:38 IST

सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया की कुछ हवाईअड्डों पर बिना इस्तेमाल वाले पार्किंग स्थानों (हैंगर) को खाली करने की योजना है। लागत में कटौती के लिए कंपनी इसके अलावा वहां पड़े कबाड़ को भी बेचेगी। एअर इंडिया के विनिवेश की तैयारी चल रही है।

ऐसे में पिछले महीने ही कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक का पद ग्रहण करने वाले राजीव बंसल ने कहा कि कंपनी समय पर उड़ान परिचालन (ओटीपी), ग्राहक सेवा बेहतर बनाने और विभिन्न मदों में लागत कटौती करने के लिए काम कर रही है।

बंसल ने पीटीआई-भाषा से कहा कि वह हवाईअड्डों पर कंपनी के कबाड़ में घिरे पड़े अतिरिक्त स्थान को खाली करने की योजना पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैंने पाया कि हैंगरों में बहुत सारा बिना इस्तेमाल वाला सामान पड़ा हुआ है और हम बेवजह इस स्थान को रखे हुए हैं।

बंसल के अनुसार इस कबाड़ को बेचकर कुछ पैसा कमाया जा सकता है और साथ ही इन स्थानों को खालीकर किराया लागत को भी कम कर सकते हैं। बंसल ने कहा कि दिल्ली में कंपनी ने एक विमान को नीलाम कर दिया, लेकिन वह हैंगर में खड़ा है। इसी तरह मुंबई में इस्पात का कबाड़ पड़ा हुआ है और हम इसे हटाने का प्रयास कर रहे हैं ताकि हैंगर को खाली किया जा सके।

बंसल के अनुसार इस कबाड़ को बेचकर कुछ पैसा कमाया जा सकता है और साथ ही इन स्थानों को खालीकर किराया लागत को भी कम कर सकते हैं। बंसल ने कहा कि दिल्ली में कंपनी ने एक विमान को नीलाम कर दिया, लेकिन वह हैंगर में खड़ा है। इसी तरह मुंबई में इस्पात का कबाड़ पड़ा हुआ है और हम इसे हटाने का प्रयास कर रहे हैं ताकि हैंगर को खाली किया जा सके।

क्‍या होता है हैंगर स्‍पेस -

एयर पोर्ट पर हैंगर स्‍पेस उसे कहा जाता है, जहां पर जहाजों को मेंटिनेंस के लिए खड़ा किया जाता है। एअर इंडिया के पास देश के दस एयरपोर्ट पर हैंगर स्‍पेस है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें