नेशनल

'अटल युग' का हुआ अंत, देशभर में शोक की लहर, लोगों ने ऐसे दी श्रदांजलि

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2470
| अगस्त 16 , 2018 , 18:46 IST

'काल के कपाल पर लिखने-मिटाने' वाली वह अटल आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम एम्स में इलाज के दौरान निधन हो गया। वह 93 साल के थे। एम्स ने शाम को बयान जारी कर बताया, 'पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 16 अगस्त 2018 को शाम 05.05 बजे अंतिम सांस ली। पिछले 36 घंटों में उनकी तबीयत काफी खराब हो गई थी। हमने पूरी कोशिश की पर आज उन्हें बचाया नहीं जा सका।' वाजपेयी को यूरिन इन्फेक्शन और किडनी संबंधी परेशानी के चलते 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। मधुमेह के शिकार वाजपेयी का एक ही गुर्दा काम कर रहा था।

पीएम नरेन्द्र मोदी सहित देश के सभी नेताओं ने अटल जी को श्रदांजलि दी।

प्रधानमंत्री ने टूवीट कर अटल जी के बारें कहा कि मैं नि:शब्द हूं, शून्य हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा हैं। हम सभी के श्रद्देय अटल जी हमारे बीच नही रहें। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत हैं।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें