नेशनल

इस गांव में 800 लोग हैं और सभी 1 जनवरी को ही पैदा हुए, वजह बहुत खास है!

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
691
| अक्टूबर 27 , 2017 , 16:39 IST

उत्तराखंड में एक गांव ऐसा है जहां हर व्यक्ति 1 जनवरी को पैदा हुआ है। इस गांव में लोगों के जन्म के साल तो बदल गए हैं लेकिन जन्मतिथि एक ही दिन है। यह मामला उत्तराखंड के गैंडी खाटा गांव में सामने आया है। इस गांव में लगभग 800 लोग रहते हैं और सभी लोगों के जन्म की तारीख 1 जनवरी ही दर्ज की गई है। ये खुलासा लोगों के आधार कार्ड से हुआ है।

गांव के लोगों ने बताया कि उन्होंने आधार कार्ड बनाने वाली एजेंसी को राशन कार्ड, वोटर आईडी जैसी चीजें दी थी जिनसे वह हमारी जन्मतिथि देख सकती थी और आधार कार्ड में अंकित कर सकती थी लेकिन एजेंसी ने गड़बड़ी करते हुए सभी की जन्म की तारीख एक ही कर दी।

5544

गांव में रहने वाले कय्यूम ने बताया कि उनके बेटे शराफ़त का जन्म 2005 में हुआ था, लेकिन आधार में उसकी उम्र 15 साल दिखाई गई है। गांववालों का कहना है कि ऐसे भी मामले देखने को मिले हैं जिनमें किसी वृद्ध महिला की उम्र 22 साल, तो बच्चों की उम्र 15 से 60 साल तक कर दी गई। गांव के उप-प्रधान मोहम्मद इमरान ने बताया, ‘लोगों ने अपने राशन और वोटर कार्ड जमा कराए थे। लोग अब इस बात से चिंतित हैं कि उनके आधार में हुई गड़बड़ी के चलते वे सरकारी योजनाओं से वंचित न हो जाएं।

ऐसा नहीं है कि देहरादून के इस गांव में यह पहला मामला सामने आया है। इसके पहले भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं जहां पूरे गांव के लोगों के जन्म की तारीख एक ही पाई गई है। अगस्त महीने में ही उत्तर प्रदेश के आगरा और इलाहाबाद में इस तरह के मामले सामने आए थे। जहां पूरे के पूरे गांव के लोगों की जन्मतिथि 1 जनवरी ही दर्ज पाई गई थी।

जब इन गांव के लोगों से पूछताछ की गई तब उन लोगों ने भी इसे एजेंसियों की लापरवाही बताया था।


कमेंट करें