राजनीति

मुलायम ने मेरे साथ 'राजनीतिक Prostitute' की तरह बर्ताव किया- अमर सिंह

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
839
| सितंबर 20 , 2017 , 13:06 IST

समाजवादी पार्टी से निकाले गए सांसद अमर सिंह का दर्द एक बार फिर झलक उठा है। अमर ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि वह अपने पुराने मित्र मुलायम सिंह यादव और उनके परिवार के साथ अब कोई राजनीतिक रिश्ता नहीं रखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह समाजवादी पार्टी में ना हैं और ना ही कभी जाएंगे। अमर सिंह की ये तल्खी मंगलवार को मीडिया के सामने आई, जब वह लखनऊ में अपनी अभिनीत फिल्म 'जेडी' का प्रमोशन करने आए थे।

इस बीच मीडियाकर्मियों ने अमर सिंह से समाजवादी पार्टी को लेकर सवाल पूछना शुरू किया तो पहले तो अमर सिंह ने कुछ भी बोलने से मना किया, लेकिन फिर बाद में अमर'वाणी' मलुायम सिंह के खिलाफ ऐसी शुरू हुई की सबकुछ खुलकर बताया।

फिल्मी गानों की लाइनों के जरिये अमर सिंह ने मुलायम और अखिलेश पर तंज कसते हुए कहा कि जब वहां था तो पूरा दोष 'अंकल' का था। अब तो मैं बाहरी हो गया। अब मैं ना इधर हूं और ना उधर हूं।

Amar-Singh-1

अमर सिंह ने फिर फिल्म 'खलनायक' के एक गाने के बोल दोहराए ..'नायक नहीं खलनायक हूं मैं, जुल्मी बड़ा दुखदायक हूं मैं।' अब दोनों पक्ष (मुलायम-अखिलेश) को बोलना बंद कर दें कि ..'कांटा लगा।' उन्होंने यह भी कहा कि अगर मुलायम सिंह उन्हें खुद भी बुलाएंगे तो भी वह वापस समाजवादी पार्टी में नहीं जाएंगे।

अमर सिंह ने अपने अंदाज में बोलते हुए कहा कि मैं यत्र-तत्र, सर्वत्र हूं लेकिन, अब मैं ना वहां (समाजवादी पार्टी) हूं और ना कभी रहूंगा। नेताजी (मुलायम सिंह) के अलग पार्टी बनाने के सवाल पर अमर सिंह ने कहा कि मुलायम मुझसे कहते हैं कि पीछे के दरवाजे से आओ और वहीं से निकल जाओ। आओ जरूर लेकिन रात के अंधेरे में और ऊजाला होने से पहले चले जाओ। कहीं आजम, अखिलेश तुम्हें देख ना लें।

अमर ने फिर गाने के जरिए अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कि धीरे-धीरे बोल कोई सुन ना लें।’अमर सिंह ने कहा कि ऐसे वेश्याएं आती-जाती हैं। मैं राजनीतिक वेश्या नहीं बनना चाहता। उन्होंने कहा कि दो बार मुझे 'पिछवाड़े' से निकाला, अब वहां नहीं जाऊंगा।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें