राजनीति

सिख विरोधी दंगों में सज्‍जन, धर्मदास समेत सिर्फ 5 नेता थे शामिल: अमरिंदर सिंह

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1714
| अगस्त 27 , 2018 , 21:16 IST

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का उस बयान का समर्थन किया है जिसमे ये कहा गया था कि दंगों में एक पार्टी के रूप में कांग्रेस की कभी संलिप्तता नहीं रही। अमरिंदर सिंह ने कहा कि ऑपरेशन ब्लूस्टार के समय राहुल स्कूल में पढ़ते थे। राहुल इन सब चीजों से अनजान थे, उसके लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराना बिल्कुल मूर्खतापूर्ण है।

अमरिंदर ने शिरोमणि अकाली दल प्रमुख के उस बयान पर निशाना साधा और उन्होंने कहा, ‘कुछ लोगों की करतूतों के लिए समूची पार्टी को जिम्मेदार ठहराना मूर्खतापूर्ण है और यह सुखबीर बादल की राजनीतिक अपरिपक्वता दर्शाता है।’ अमरिंदर सिंह ने कहा कि राहुल गांधी के हालिया बयान को 1984 के दंगों पर उनके पहले के बयानों के संदर्भ में देखा जाना चाहिए, जिसमें उन्होंने खुद कुछ कांग्रेसियों के नाम लिए थे।

1984 के सिख विरोधी दंगे पर पंजाब की राजनीति गर्मा गई है। पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि 1984 के सिख विरोधी दंगे में कांग्रेस किसी भी रूप में शामिल नहीं थी। इस दंगे में सज्जन कुमार, धर्मदास शास्त्री, अर्जुन दास और हरिकिशन लाल भगत सहित पांच लोग शामिल थे। कैप्‍टन के इस बयान पर शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने पलटवार किया है और कहा है कि कैप्‍टन ये नाम सुप्रीम कोर्ट में दें।

कैप्टन ने कहा कि जो लोग दोषी हैं उन्हें सजा मिलनी ही चाहिए। सुखबीर बादल ने कहा कि कैप्टन जगदीश टाइटलर का नाम क्यों नहीं ले रहे जिन्होंने अपने स्टिंग आपरेशन में माना है कि राजीव गांधी उनके साथ थे। इस पर कैप्टन ने कहा कि आपको क्या पता बादल साहिब, आप तो उस समय कैलेफोर्निया में पढ़ रहे थे। जब इंदिरा गांधी की हत्या हुई तो राजीव गांधी कलकत्ता एयरपोर्ट पर थे। इस पर अकाली दल और भाजपा के विधायक नाराज होकर वेल में पहुंच गए और पोस्टर लहराते हुए नारेबाजी करने लगे।

वहीं, 1984 के दंगों के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री व सुखबीर बादल की पत्नी हरसिमरत कौर बादल ने भी कैप्टन पर निशाना साधा। कहा कि कैप्टन को शरम आनी चाहिए। एक सिख होने के नाते उन्हें चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए।


कमेंट करें