इंटरनेशनल

सीरिया से जल्द हटेगी अमेरिकी सेना, खर्च किये खरबों लेकिन मिला कुछ नहीं: डोनाल्ड ट्रंप

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1049
| मार्च 30 , 2018 , 11:21 IST

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने घोषणा की है कि अमेरिका युद्धग्रस्त सीरिया से अपने सैनिकों को बहुत जल्द वापस बुला लेगा। हालांकि वाशिंगटन की तरफ से किसी औऱ तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई। ट्रंप ने गुरुवार को स्टेट ऑफ ओहियो में डेलीवाइज्ड रैली में कहा कि हम बहुत जल्द ही सीरिया से अपनी सेना वापस बुला लेंगे। कहा कि, अब कोई और इस मामले को देखेगा।

डोनल्ड ट्रंप के मुताबिक वाशिंगटन ने मिडल-ईस्ट के युद्धों में 7 ट्रिलियन डॉलर की बर्बादी की है। डोनल्ड ट्रंप ने बातें ओहायो में औद्योगिक श्रमिकों को संबोधित करते हुए कही।

ट्रम्प ने कहा "हमारी सेना जल्द ही सीरिया से बाहर आ जाएगी। अब दूसरे लोगों को इसका ध्यान रखना चाहिए।'' हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया कि वो अन्य लोग कौन हैं जो सीरिया की देखभाल कर सकते हैं। लेकिन आपको बता दें कि सीरिया में इस वक्त रूस और ईरान की सेना मौजूद है जो बशर अल-असद के शासन का समर्थन कर रहे हैं।

फिलहाल पूर्वी सीरिया में अमेरिका के 2,000 से ज्यादा सैनिक मौजूद है जो इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि तुर्की ने अमेरिका समर्थित कुर्द वायपीजी लड़ाकू सेनाओं को पूर्वी घोउटा से वापस लेने का आग्रह किया था। ट्रंप ने शिकायती लहजे में कहा कि अमेरिका ने मध्यपूर्व में खरबों खर्च किये हैं लेकिन वापस उन्हें कुछ नहीं मिला है।

उन्होंने हालांकि यह नहीं कहा कि सीरिया में मौजूद आईएसआईएस आतंकियों के खिलाफ अमेरिका का सैन्य हवाई हमला अभियान वापस लिया जाएगा या नहीं। उन्होंने ओहियो कार्यकर्ताओं से कहा कि अमेरिकन सेना ने आईएसआईएस को वहां से खदेड़ने के लिए काफी काम किया है। हम बहुत जल्द ही अपना सैन्य अभियान वापस ले रहे हैं।

इस साल अमेरिका ने जनवरी में सीरिया को लेकर नई रणनीति का एलान किया था। उस वक्त विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने कहा था कि आईएस और अल-कायदा को दोबार सीरिया में पनपने का मौका नहीं दिया जाना चाहिए ऐसे में जरूरी है कि सीरिया में अमेरिकी सेनाएं डटी रहे। बाद में राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को बर्ख़ास्त कर दिया था।

ट्रम्प के मुताबिक अमेरिका अब नौकरियों और बुनियादी ढांचे पर ज्यादा खर्च करेगा। उन्होंने कहा ''हमने मध्य पूर्व में 7 ट्रिलियन डॉलर खर्च किए और आप जानते हैं कि इससे हमें क्या मिला कुछ भी नहीं "


कमेंट करें