नेशनल

अंडमान के जंगलों में बिना इजाजत घूसे अमेरिकी टूरिस्ट, आदिवासियों ने तीर से ली जान

icon सतीश कुमार वर्मा | 0
1850
| नवंबर 21 , 2018 , 16:19 IST

आदिवासियों ने अंडमान-निकोबार द्दीप में तीर से एक अमेरिकी नागरिक जॉन एलन चाऊ(27) की हत्या कर दी। वहां के पुलिस के मुताबिक, 7 मछुआरे चाऊ को उत्तरी सेंटीनेल द्दीप ले गए, जहां सेंटीनेल जनजाति के लोग रहते हैं। हालांकि सातों मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार निकोबार के सेंटिनेल द्वीप में घुसने की मनाही के बावजूद यह पर्यटक मछुआरों की मदद से वहां जा घुसा था। उसके बाद आदिवासियों ने टूरिस्ट पर तीरों से हमला किया, जिससे उसकी मौत हो गई।

Aaa

ऐसा भी बताया जा रहा है कि अंडमान निकोबार के सुदूर सेंटिनल द्वीप पर आदिवासियों का यह बेहद विलुप्तप्राय समुदाय रहता है। इस समूह से मिलने की इजाजत किसी को नहीं है।

सेंटिनल द्वीप में रहने वाली जनजाति काफी खतरनाक मानी जाती है। चेन्नै स्थित अमेरिकी दूतावास की प्रवक्ता ने कहा, 'अंडमान निकोबार द्वीप पर अमेरिकी नागरिक के मारे जाने की खबर की जानकारी मिली है।' उन्होंने कहा, 'हम इस मामले को लेकर स्थानीय अथॉरिटी के सम्पर्क में है। गोपनीयता का मामला होने की वजह से इससे ज्यादा जानकारी नहीं दी जा सकती है।' शव के बारे में स्थानीय मछुआरों ने पुलिस को सूचना दी थी।

बता दें कि इस द्दीप पर सिर्फ नाव के जरिए पहुंचा जा सकता है। द्वीप में आज भी 60,000 साल पुराना इंसानी कबीला रहता है। उनका बाहरी दुनिया से कोई संपर्क नहीं है। वहां पहुंचने की कोशिश करने वालों पर कबीला हमला भी करता है। नॉर्थ सेंटिनल आइलैंड पर इस रहस्यमय आदिम जनजाति का आधुनिक युग या इस युग के किसी भी सदस्य से कुछ भी लेना-देना नहीं है। इस जनजाति के लोग ना तो किसी बाहरी व्यक्ति के साथ संपर्क रखते हैं और ना ही किसी को खुद से संपर्क रखने देते हैं।

हालांकि 2011 में इस द्दीप पर 40 सेंटीनलीज रहते थे।


author
सतीश कुमार वर्मा

लेखक न्यूज वर्ल्ड इंडिया में वेब जर्नलिस्ट हैं

कमेंट करें