राजनीति

अमित शाह ने चंद्रबाबू नायडू के लिए लिखा खुला पत्र,कहा- सियासी फायदे के लिए छोड़ी NDA

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
842
| मार्च 24 , 2018 , 14:55 IST

आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू को खुली चिट्ठी लिखते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपना मोर्चा खोल दिया है। अमित शाह ने नायडू की पार्टी टीडीपी के एनडीए छोड़ने के फैसले को एकतरफा और दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

भाजपा अध्यक्ष ने खत की शुरुआत में चंद्रबाबू नायडू और राज्य के 5 करोड़ तेलुगु भाषी लोगों को उगाड़ी पर्व की शुभकामनाएं दीं और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की है।

बता दें कि आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू लगातार राज्य के विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं। इस अमित शाह ने क्रमवार तरीके से चिट्ठी में चंद्रबाबू नायडू के आरोपों का न सिर्फ जवाब दिया है, बल्कि मोदी सरकार द्वारा राज्य के लिए किए गए कामों को भी गिनाया है।

अमित शाह की पूरी चिट्ठी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

भाजपा अध्यक्ष ने अपने इस खुले खत में लिखा है कि उनकी पार्टी पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस और डेवलपमेंट में भरोसा करती है। उन्होंने कहा- राष्ट्रीय विकास की अवधारणा में आंध्र प्रदेश हमारे लिए खासा महत्व रखता है और यह इस बात से भी झलकता है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने आंध्र प्रदेश के विकास व समृद्धि के लिए हर संभव कोशिश की है।

कांग्रेस की देन है-
चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के साथ जिस अन्याय की बात कर रहे हैं उसे अमित शाह ने कांग्रेस का किया पाप बताया है। उन्होंने अपने इस खुले खत में लिखा कि प्रदेश के विभाजन में कांग्रेस ने मिसमैनेज किया और राज्य के प्रति संवेदनशीलता नहीं दिखाई।

जब बीजेपी ने दिया था साथ....

अमित शाह ने चंद्रबाबू नायडू को याद दिलाते हुए कहा- पिछली लोकसभा और राज्यसभा (यूपीए सरकार के दौरान) को याद कीजिए, जब आपके पास ज्यादा सांसदों का संख्याबल नहीं था। तब भाजपा ने ही दोनों राज्यों के तेलुगु भाषी लोगों के न्याय के लिए आवाज बुलंद की थी।

चार वर्षों में राज्य को दिया बहुत कुछ -

भाजपा अध्यक्ष ने आगे कहा- बीजेपी के नेतृत्व में साल 2014 में एनडीए की सरकार बनी, जिसके आप भी अहम हिस्सेदार रहे। हमने आंध्र को इस भावना के साथ आगे बढ़ाने का काम किया कि विभाजन का ज्यादा नुकसान इसी राज्य को झेलना पड़ा है।

केंद्र सरकार ने आंध्र के विकास के लिए जिस तरह से काम किया, उसमें संवेदनशीलता और प्रतिबद्धता दोनों हैं। यह सब पिछले चार वर्षों के दौरान आंध्र को दी गई भारी मदद के रूप में झलकता भी है। यहां तक कि आंध्र प्रदेश रि-ऑर्गेनाइजेशन एक्ट 2014 के तहत किए गए ज्यादातर वायदों को भी पूरा कर लिया गया है।

टीडीपी ने दिया अविश्वास प्रस्ताव-

टीडीपी ने मोदी सरकार के खिलाफ लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव दिया है। हंगामे की वजह से अभी तक अविश्वास प्रस्ताव पास चर्चा के लिए नहीं आ पाया है।अविश्वास प्रस्ताव पर टीडीपी को वायआरएस कांग्रेस और टीएमसी का समर्थन प्राप्त है।


कमेंट करें