नेशनल

कश्मीर: चोटीकटवा कांड पर बोले आर्मी चीफ- सेना को जानबूझ कर किया जा रहा टारगेट

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
915
| अक्टूबर 21 , 2017 , 14:09 IST

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कश्मीर के चोटीकटवा कांड पर शनिवार को कहा कि ऐसी घटनाओं के बहाने कुछ लोग आर्मी और आम जनता को टारगेट कर रहे हैं। ये तो देश के बाकी शहरों में भी हो चुका है, आज यहां जो कुछ भी हो रहा है वह आतंकियों का गुस्सा और क्षोभ दिखाता है। कश्मीर में पुलिस अपना काम कर रही है। धीरे-धीरे सिक्युरिटी के हालात में सुधार हो रहा है। बता दें कि घाटी में बीते दो महीने में चोटी काटने की 100 से ज्यादा अफवाह और मारपीट की कई घटनाएं सामने आईं। इनके विरोध में अलगाववादियों ने बंद का एलान किया।

Rawat

कश्मीर के 7 इलाकों में धारा 144 लागू

सेना के एक सीनियर अफसर ने बताया कि बंद को देखते हुए कई इलाकों में फोर्स तैनात की गई है। श्रीनगर समेत कश्मीर के 7 इलाकों में धारा 144 लगाई गई है। अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूख और मोहम्मद यासीन मलिक के बंद के चलते आम लोगों की लाइफ पर असर पड़ा है। कई इलाकों में स्कूल-कॉलेज, बाजार और पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद हैं। हालांकि कुछ प्राइवेट गाड़ियां चल रही हैं।

Braid

चोटीकटवा के शक पर एक शख्स को जिंदा जला दिया गया

उन्होंने बताया कि हमने सुरक्षा कारणों से घाटी की सभी ट्रेनों को रोक दिया है। मध्य कश्मीर में श्रीनगर-बडगाम से लेकर उत्तरी इलाके के बारामूला तक कोई ट्रेन नहीं चलेगी। इसी तरह दक्षिण कश्मीर में श्रीनगर-अनंतनाग-काजीकुंड से जम्मू के बनिहाल के बीच ट्रेन सर्विस बंद रहेगी। बता दें कि पिछले 4 दिनों के अंदर चोटी काटने की अफवाहों के चलते सोपोर में एक शख्स को जिंदा जलाने और दूसरे को डल झील में डुबोने की कोशिश की गई, कई लोगों से मारपीट की घटनाएं हुईं।

रेडिकलाइजेशन रोकने के लिए काम हो रहा

आर्मी चीफ ने कहा, ''सेना को जो टास्क सौंपा जाता है। वो उसे बहुत अच्छी तरह से पूरा करती है। पाकिस्तान के लिए राजनीतिक तरीके से फैसले लेना चाहिए। लोगों को रेडिकलाइजेशन कर बरगलाया जा रहा है। ये दुनिया के बाकी हिस्सों में भी होता है, लेकिन हम इसे गंभीरता से ले रहे हैं। जम्मू-कश्मीर सरकार, पुलिस और एडमिनिस्ट्रेशन मिलकर कोशिश कर रहे हैं कि जो कुछ भी सोशल मीडिया के जरिए हो रहा है, उससे लोगों को दूर रखा जाए।''

 

 


कमेंट करें