राजनीति

ड्रग्स माफिया वाले बयान पर केजरीवाल ने मांगी लिखित में माफी, मजीठिया बोले- माफ किया

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
801
| मार्च 15 , 2018 , 21:31 IST

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार (15 मार्च) को पंजाब शिरोमणि अकाली दल नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांग ली। केजरीवाल ने मजीठिया पर ड्रग्‍स के धंधे में लिप्‍त होने से जुड़े सभी बयान वापस ले लिए। माफी मांगते हुए केजरीवाल ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि अब उन्‍हें पता चला है कि ‘आरोप निराधार हैं।”

केजरीवाल ने लिखित माफीनामे में लिखा, ''मैंने चुनाव प्रचार के दौरान की गई रैलियों में कई बार आप पर (मजीठिया पर) ड्रग रैकेट चलाने का आरोप लगाया था। यह राजनीतिक मसला बन गया था। अब मुझे पता चला कि मेरे द्वारा लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।''

केजरीवाल ने इस संबंध में लिखित माफी अदालत में जमा कराई गई है। दरअसल, आम आदमी पार्टी (AAP) अब अपने नेताओं पर चल रहे मानहानि के सभी केस खत्म कराने की कोशिश में जुट गई है। मजीठिया ने गुरुवार को चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उस लिखित माफी का लेटर रिलीज किया जो केजरीवाल की तरफ से अमृतसर कोर्ट में जमा कराया गया है।

ये भी पढें-गिरिराज के बयान पर हंगामा, राबड़ी ने कहा- 'आतंकवादी तो बीजेपी दफ्तर में बैठते हैं'

केजरीवाल ने मजीठिया को आगे लिखा है, ”विभिन्‍न राजनैतिक रैलियों, जनसभाओं, टीवी कार्यक्रमों, प्रिंट, इलेक्‍ट्रॉनिक और सोशल मीडिया पर मेरे द्वारा लगाए गए आरोपों के चलते, आपने माननीय अमृतसर की अदालत में मानहानि का मुकदमा किया। मैं यहां आपके खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों और बयानों को वापस लेता हूं और इसके लिए क्षमा मांगता हूं। आपके सम्‍मान को जो चोट पहुंची, आपके परिवार, दोस्‍तों, शुभचिंतकों, प्रशंसकों और आपको हुई तकलीफ के लिए खेद व्‍यक्‍त करता हूं।”

2017 में पंजाब विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान अरविंद केजरीवाल ने बिक्रम मजीठिया पर लगातार हमला करते हुए उन्हें ड्रग्स माफिया बताया था। केजरीवाल ने अपनी हर चुनावी रैली में पंजाब में नशे का मुद्दा उठाते हुए इसके लिए बिक्रम मजीठिया को जिम्मेदारी ठहराया था। अपनी रैलियों उन्होंने यहां तक कहा था कि यदि पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी तो बिक्रम मजीठिया जेल में होगा लेकिन पंजाब में आम आदमी पार्टी चुनाव हार गई और राज्य में कांग्रेस की सरकार बन गई।

बिक्रम मजीठिया ने केजरीवाल की टिप्पणी पर उनके खिलाफ अमृतसर की कोर्ट में मानहानि का मुकदमा दाखिल कर दिया था। बता दें कि पंजाब में चुनाव प्रचार के दौरान आम आदमी पार्टी की ओर से लगातार कहा गया था कि बिक्रम सिंह मजीठिया ने पंजाब में हजारों युवाओं को बर्बाद कर दिया है। मजीठिया ने केजरीवाल के साथ-साथ आशीष खेतान और संजय सिंह पर मानहानि का मामला दर्ज किया था। अब पंजाब में नई सरकार बनने के ठीक एक साल के बाद केजरीवाल ने अपने बयान पर माफी मांग ली है और इसके लिए एक लिखित चिट्ठी भी जारी की है।

20 मई, 2016 को मजीठिया ने केजरीवाल, संजय सिंह (अब राज्‍यसभा सांसद) और आशीष खेतान के खिलाफ आपराधिक मान‍हानि का मुकदमा दर्ज कराया था। यह मामला अमृतसर में प्रथम श्रेणी न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट अर्जुन सिंह के समक्ष विचाराधान है।

ऐसा बताया जा रहा है कि केजरीवाल अपने ऊपर चल रहे सभी मानहानि मामलों को खत्म करने के लिए उन नेताओं से बात कर रहे हैं जिन्होंने उनके ऊपर ये मुकदमे दायर किए हैं। दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट में ही केजरीवाल के खिलाफ मानहानि के कई मामले चल रहे हैं।

पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, अरुण जेटली और पूर्व सीएम शीला दीक्षित अन्य नेताओं ने मानहानि के केस किए हैं।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें