नेशनल

दंगे की आग में झुलस रहा बिहार, अर्जित चौबे की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
1094
| मार्च 31 , 2018 , 17:02 IST

बिहार इन दिनों दंगो की आग में झुलस रहा है। बिहार में एक के बाद एक कई शहर दंगो की चपेट में आ चुके है। भागलपुर में हुई हिंसा पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कांग्रेस और राजद पर हमला बोला है। अश्विनी चौबे ने कहा कि कांग्रेस और राजद ने दंगों को भड़काने की कोशिश की है।

उन्होंने कहा, 'केंद्र और राज्य में एनडीए सरकार इस तरह के प्रयासों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।' उन्होंने कहा कि बिहार में राजद और कांग्रेस ने आशांति फैलाई है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार और केंद्र एक साथ राज्य में अशांति फ़ैलाने के प्रयासों को विफल करेगी।'

अर्जित चौबे की अग्रिम जमानत याचिका खारिज:

कोर्ट ने अर्जित शाश्वत चौबे की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। बांकी आरोपितों के जमानत के लिए अलग से तारीख के बाद सुनवाई होगी। गौरतलब है अर्जित पर 17 मार्च को बिना अनुमति भारतीय नववर्ष का जुलूस निकालने समेत अन्य आरोप लगाए गए हैं। इस मामले में अर्जित शाश्वत चौबे, अभय कुमार घोष, प्रमोद वर्मा पम्मी, देव कुमार पांडेय, सुरेंद्र पाठक, अनुप लाल साह, संजय भट्ट, प्रणव साह उर्फ प्रणव दास के खिलाफ न्यायालय द्वारा गिरफ्तारी वारंट निर्गत किया गया था।

De

दंगो की चपेट में हैं कई जिलें:

भागलपुर, औरंगाबाद, नालंदा और समस्तीपुर के बाद नवादा जिले में भी कल तनाव देखने को मिला। नवादा बाइपास में धार्मिक स्‍थल को क्षतिग्रस्‍त करने की बात सामने आने के बाद हिंसक प्रदर्शन शुरु हो गया धार्मिक स्थल की तोड़-फोड़ के बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल किया।

A

हिंदू नववर्ष जुलूस के दौरान भड़का दंगा:

बिहार के भागलपुर जिले के नाथनगर में हिंदू नववर्ष जुलूस के दौरान दंगा भड़क गया था। इस मामले में पुलिस ने केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री और बक्सर क्षेत्र के सांसद अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। हिंदू नववर्ष के मौके पर इस इलाके में एक जुलूस निकाला गया था जिस पर पथराव की घटना हुई थी। इसके बाद दो समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए थे। इस दौरान इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई थी और भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

 

 


कमेंट करें