नेशनल

सावधान! अब दो से ज्यादा बच्चे होने पर इस राज्य में नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
405
| सितंबर 19 , 2017 , 16:45 IST

असम में अब उन लोगों को सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी, जिनके दो से ज्यादा बच्चे होंगे। साथ ही दो से ज्यादा बच्चों के माता-पिता नगर पालिका या पंचायत चुनाव भी नहीं लड़ सकेंगे। असम विधान सभा में शुक्रवार को पारित किए गए कानून के तहत ये प्रावधान किए गए हैं।

असम विधान सभा में शुक्रवार (15 सितंबर) को लंबी बहस के बाद ये कानून पारित किया गया। असम के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री हेमंत बिस्व सर्मा ने विधेयक को विधान सभा में पेश करते हुए कहा कि राज्य की सेवा शर्तों को जल्द ही नए कानून के हिसाब से बदला जाएगा। इस विधेयक के पारित होने के बाद असम के सभी सरकारी कर्मचारियों पर “दो बच्चों” की नीति लागू होगी। इसके साथ-साथ शादी के लिए निर्धारित न्यूनतम उम्र का पालन न करने वालों को भी सरकारी नौकरी के लिए अयोग्य घोषित करने का प्रावधान है।

असम में बीजेपी की सरबानंद सोनोवाल के नेतृत्व वाली सरकारी है। असम में बीजेपी पहली बार सत्ता में आई है। हेमंत बिस्व सर्मा ने सदन में कहा कि राज्य की नई जनसंख्या नीति जनसंख्या वृद्धि पर लगाम लगाने और सामाजिक-आर्थिक और स्वास्थ्य बेहतरी के लिए बनाई गई है। बीजेपी मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार केंद्र सरकार से मांग करेगी कि विधान सभा चुनाव लड़ने के लिए ऐसा ही कानून बनाया जाए जिससे जिनके दो बच्चों से ज्यादा हों वो विधायक का चुनाव नहीं लड़ सकें।

भविष्य में चुनाव लड़ने पर भी होगी रोक-

इसके साथ ही सरकार द्वारा केंद्र के समक्ष ये प्रस्ताव भी रखा जाएगा कि दो बच्चों के नियमों का उल्लंघन करने वाले राज्य विधानसभा के सदस्यों की सदस्यता रद्द की जाए और भविष्य में उनके चुनाव लड़ने पर भी रोक लगाई जाए। विधानसभा द्वारा पास नई नीति में विवाह के लिए न्यूनतम आयु के नियम का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को सरकारी नौकरी भी नहीं मिल सकेगी।

17.7 फीसदी की दर से बढ़ रही है जनसंख्या-

सरकार द्वारा पास किए गए इस कानून में राज्य की जनसंख्या में 17.7 फीसदी की दर से हो रही वृद्धि को विकास की दिशा में एक गतिरोध बताया गया है। गौरतलब है कि साल 2001 की जनसंख्या के अनुसार असम राज्य की जनसंख्या 2.66 करोड़ थी जो कि 2011 की जनगणना के दौरान बढ़कर 3.12 करोड़ दर्ज की गई।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें