राजनीति

NRC को लेकर घमासान जारी, असम जा रहे TMC के सांसदों को एयरपोर्ट पर रोका गया

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2320
| अगस्त 2 , 2018 , 18:00 IST

नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) को लेकर चल रहा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। एनआरसी ड्राफ्ट को लेकर तृणमूल कांग्रेस के 6 सांसद और 2 विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल लोगों से मिलने के लिए असम जा रहा था जिन्हें सिलचर एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया गया। बताया जाता है कि टीएमसी नेताओं की ये टीम सिलचर में एनआरसी फाइनल ड्राफ्ट पर एक जन सभा को संबोधित करने आई थी। इनमें सुखेंदु सेखर राय, काकोली घोष दास्तीदार, रत्ना दे नाग, नादिमुल हक, अर्पिता घोष और ममता ठाकुर शामिल थे। इस पूरी टीम को पश्चिम बंगाल के मंत्री फिरहाद हकीम लीड कर रहे थे। जैसे ही वे एयरपोर्ट पर पहुंचे उन्हें वहां से बाहर निकलने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया।

हिरासत में लिए गए टीएमसी नेताओं का कहना है कि वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहते थे लेकिन उन्हें जबरन हिरासत में लिया गया। नेताओं का कहना है कि वह एयरपोर्ट छोड़कर कहीं नहीं जाएंगे। पुलिस के अनुसार नेताओं को यह कहकर रोक दिया कि उनकी यात्रा से समस्या खड़ी हो सकती है।

इस पूरे मामले पर टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने केंद्र पर अपनी भड़ास निकालते हुए कहा कि देश में आपातकाल जैसी स्थिति पैदा हो गई है। हमारे लोगों को सिलचर हवाई अड्डे पर रोक लिया गया है। हमारे लोगों से मिलना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है। पूर्ण रूप से आपातकाल जैसी स्थिति पैदा हो गई है।

उन्होने कहा कि 'हमारे सांसदों को बलपूर्वक हिरासत में लिया गया, उन्होंने किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। हिरासत में लेने से पहले हमारे नेताओं को कोई नोटिस भी नहीं दिया गया।

बता दें कि हाल ही में जारी एनआरसी के मसौदे में 3.29 करोड़ आवेदकों में से 2.89 करोड़ के नाम शामिल किए गए हैं। इनमें से लगभग 40 लाख लोगों के नाम काटे गए। जिसका ममता बनर्जी विरोध कर रहीं हैं और उन्होंने गृहयुद्ध जैसे हालात पैदा होने की चेतावनी तक दे दी थी।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें