राजनीति

एडीआर रिपोर्ट: अखिलेश राज में सपा की संपत्ति 198 फीसदी बढ़ी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
465
| मार्च 10 , 2018 , 12:53 IST

राजनीतिक दलों के पास पैसे की कोई कमी नहीं है फिर चाहे राष्ट्रीय दल हों या क्षेत्रीय पार्टियां। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के मुताबिक समाजवादी पार्टी देशभर के क्षेत्रीय दलों में सबसे अमीर पार्टी है। पिछले पांच सालों में सपा की कुल संपत्ति में करीब 198 फीसदी का इजाफा हुआ है।साल 2011-12 से 2015-16 के बीच सपा की संपत्ति  212.86 करोड़ रुपये से बढ़कर 634.96 करोड़ रुपये हो गई है। यानी जिस दौरान उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव का शासनकाल था, उस दौरान सपा की संपत्ति में ज्यादा बढ़ोत्तरी हुई है। बता दें कि अखिलेश 2012 से 2017 तक यूपी के मुख्यमंत्री थे।

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक सपा के अलावा एआईएडीएमके और शिवसेना ने अपनी संपत्ति में निरंतर बढ़ोत्तरी दिखाई है। इन पांच सालों में एआईएडीएमके की संपत्ति करीब 155 फीसदी बढ़ी है। साल 2011-12 में एआईएडीएमके की कुल संपत्ति 88.21 करोड़ थी जो 2015-16 में बढ़कर 224.87 करोड़ हो गई। बता दें कि एआईएडीएमके तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी है और इस दौरान जयललिता मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख भी थीं। शिवसेना की संपत्ति पांच सालों में 92 फीसदी बढ़ी है। 2011-12 में 20.59 करोड़ की संपत्ति बढ़कर 2015-16 में 39.68 करोड़ हो गई।

एडीआर ने पिछले पांच सालों के नोटा के ट्रेंड को लेकर भी रिपोर्ट दी है। रिपोर्ट में पाया गया है कि वर्ष 2013 में शुरू होने के बाद छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में सबसे ज्यादा लोगों ने ईवीएम में नोटा का बटन दबाया। रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले पांच वर्षों में विधानसभा और लोकसभा चुनावों में 1.3 करोड़ वोट नोटा को पड़े। इसी अवधि के दौरान विधानसभा चुनावों में नोटा को औसतन 2.7 लाख वोट पड़े।

ये है पूरी रिपोर्ट: Analysis of Assets & Liabilities of Regional Parties – FY 2011-12 to 2015-16


कमेंट करें