नेशनल

महाराष्ट्र: सनातन संस्था के सदस्य के घर से मिले 8 देसी बम, ATS ने लिया हिरासत में

अंकुश जायसवाल, संवाददाता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1537
| अगस्त 10 , 2018 , 14:08 IST

महाराष्ट्र एटीएस ने मुंबई से सटे नालासोपारा इलाके में गुरुवार रात छापेमारी कर भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किए। छापेमारी वैभव राउत के घर पर हुई। एटीएस सूत्रों के मुताबिक, राउत सनातन संस्था से जुडा हुआ है। इस संस्था का नाम गोविंद पानसारे और गौरी लंकेश मर्डर केस में आ चुका है। फिलहाल वैभव राउत को भी एटीएस की टीम ने पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। उससे मुंबई में पूछताछ हो रही है।

एटीएस पिछले काफी दिनों से वैभव की गतिविधियों पर काफी दिनों से नजर बनाए हुए थी। गुरुवार शाम को जब रेड की गई तो उस वक्त वैभव घर मे ही था। उसे हिरासत में लिया गया है और घर की तलाशी ली जा रही है। एटीएस को 8 देसी बम मिले है। जबकि घर से थोड़ी ही दूरी पर मौजूद उनके एक दुकान में बम बनाने की सामग्री मिली है।

पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, विस्फोटक के बारे में सूचना मिलने के बाद महाराष्ट्र एटीएस और पालघर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे। मामले की जांच चल रही है।

पुलिस ने बताया कि इसकी जांच करने के लिए फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है और ये जांच की जा रही है कि बरामद की गई सामग्री आरडीएक्स है या कुछ और है।

उधर, वैभर राउत के वकील का कहना है कि महाराष्ट्र एटीएस ने हमें गिरफ्तारी से पहले सूचित नहीं किया। इस देश और महाराष्ट्र में कौन सा कानून फॉलो हो रहा है। हम इसके खिलाफ कानूूनी कदम उठाएंगें।


कमेंट करें

DAYAL mansukhani

10 FRAUD BANK VIDEO NOTICE CHEK https://www.youtube.com/channel/UCgP8HMhUElJMDaG--_VJTCQ/videos 13M Kashmir https://www.youtube.com/watch?v=j8YSPdcBTOo Sanjiv PunalekarMumbai VIDEO CLICK QLD Bank Part 1MY CASES ID3M CCTVVIDEO CLICK https://www.youtube.com/watch?v=SJ3YpGKrSz8 QLD Bank Part MY CASES23M CCTV VIDEO CLICK https://www.youtube.com/watch?v=dS00VVG_3Fo AUSTRALIA CASE + DUBAICASE +MY CASES M46 CCTV+Punalekar VIDEO CLICK https://www.youtube.com/watch?v=HijbKvF3oc8 Punalekar petitionMY CASES14M CCTV VIDEO CLICK https://www.youtube.com/watch?v=D6cg0Ivwkao Rajnish Pandey 8M CCTV VIDEO CLICK https://www.youtube.com/watch?v=pxS9dc5GdnU&feature=youtu.be DAYAL LAWSUITS N R I CENSOR CLICK IN THE HIGH COURT OF JUCADITURE AT BOMBAY