खेल

वार्नर और स्मिथ के बिना ऑस्ट्रेलिया वैसी ही जैसे विराट और रोहित के बगैर इंडिया: गांगुली

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1537
| नवंबर 15 , 2018 , 12:14 IST

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार को कहा कि विराट कोहली के नेतृत्व में खेलने वाली भारतीय टीम के पास ऑस्ट्रेलिया को हराने का सर्वश्रेष्ठ मौका है जो अपने दो शीर्ष खिलाड़ियों स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के बिना खेलेगा। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का बोर्ड स्मिथ, वार्नर और कैमरन बेनक्राफ्ट पर लगे प्रतिबंध पर अगले हफ्ते तक फैसला कर सकता है लेकिन संकेत हैं कि वह इस दागी तिकड़ी की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में जल्द वापसी के लिए तैयार नहीं हैं।

1

गांगुली ने यहां एक कार्यक्रम के इतर कहा, ‘‘यह भारतीय टीम में रोहित शर्मा और विराट कोहली के नहीं होने की तरह है। यह बड़ा मुद्दा है।’’ इस पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘यह भारतीय क्रिकेट के लिए बेहतरीन लम्हा है। यह उनके पास ऑस्ट्रेलिया को हराने का सर्वश्रेष्ठ मौका है।’’

दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरों पर शिकस्त झेलने के बाद कोहली की अगुआई वाली टीम में पास ऑस्ट्रेलिया में अपनी प्रतिष्ठा बचाने का मौका है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत चार टेस्ट की श्रृंखला खेलेगा जिसके पहले टेस्ट की शुरुआत छह दिसंबर से एडिलेड में होगी।

भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण ने इंग्लैंड में 1-4 की हार के दौरान प्रभावित किया था और गांगुली ने कहा, ‘‘मैंने इंग्लैंड में देखा कि उन्होंने (गेंदबाजों) लगभग प्रत्येक टेस्ट में 20 विकेट चटकाए।’’ गांगुली ने हालांकि भारतीय टीम को चेताया कि वह सतर्क रहे।

गांगुली ने कहा, ‘‘लेकिन आपको ध्यान रखना होगा कि ऑस्ट्रेलिया की टीम ऑस्ट्रेलिया में बिल्कुल अलग तरह की टीम होती है। कई लोगों को लगता है कि वे कमजोर टीम हैं लेकिन मुझे ऐसा नहीं लगता।’’ काम्प्लान के ब्रांड दूत गांगुली यहां कंपनी के एक कांटेस्ट के विजेताओं को इनामी राशि देने के कार्यक्रम के लिए आए थे।

गेंदबाजों को मिलेगी बड़ी चुनौती-:

पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा का मानना है कि भले ही भारतीय तेज गेंदबाजों ने इस साल विदेशी सरजमीं पर अच्छा प्रदर्शन किया हो लेकिन ऑस्ट्रेलिया की मुश्किल परिस्थितियों के कारण आगामी श्रृंखला उनके लिये काफी चुनौतीपूर्ण होगी।

नेहरा ने साक्षात्कार में कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलियाई टीम अभी बदलाव के दौर से गुजर रही है और निसंदेह यह भारत के लिये बहुत अच्छा मौका है। हमारे पास ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है जो उन्हें परेशानी में डाल सकता है। लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि आस्ट्रेलिया में परिस्थितियां काफी कड़ी होंगी जहां विकेट सपाट होता है और काफी गर्मी होती है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया में आपको अतिरिक्त उछाल मिल सकती है लेकिन वहां कूकाबूरा की सिलाई खत्म होने तक थोड़ा मूवमेंट मिलेगा। वहां इंग्लैंड जैसा नहीं होगा जहां गेंद पूरे दिन स्विंग लेती है। एक बार उछाल से सामंजस्य बिठाने के बाद बल्लेबाज आप पर पूरे दिन शॉट खेल सकता है।’’


कमेंट करें