इंटरनेशनल

ऑस्ट्रेलिया में बैन नहीं होगा गणेश जी का विवादित विज्ञापन, हिन्दू संगठनों की मांग खारिज

| 0
683
| सितंबर 19 , 2017 , 20:55 IST

हिन्दू संगठनों द्वारा भगवान गणेश के विवादास्पद विज्ञापन को ऑस्ट्रेलिया में प्रतिबंधित करने की मांग खारिज कर दी गई है। ऑस्ट्रेलियाई एजेंसी द्वारा प्रसारित लैंब रोस्ट के एडवर्टाइजमेंट में गणेश के साथ-साथ दूसरे देवताओं और पैगम्बरों को दिखाया गया था। हिंदू संगठनों ने विज्ञापन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। विज्ञापनों पर नजर रखने वाली संस्था एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स ब्यूरो (ASB) ने इस मांग को ठुकरा दिया है। ASB ने कहा कि एड में किसी कैरेक्टर को गलत ढंग से नहीं दिखाया गया है। 

क्या है विवाद?

मीट एंड लिवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया (MLA) ने 4 सितंबर को एक विज्ञापन जारी किया था। इस विज्ञापन के जरिए भेड़ के मांस को प्रमोट किए जाने की कोशिश की गई है। इस विज्ञापन में भगवान गणेश के अलावा ईसा मसीह, भगवान बुद्ध और यहूदी भगवान हैं। ये सभी डाइनिंग टेबल पर बैठे और बात करते दिखाई दे रहे हैं।

विज्ञापन की टैग लाइन में लिखा गया है, ‘द मीट-वी कैन ऑल ईट’ यानी वो मीट जिसे हम सभी खा सकते हैं।

क्यों मचा विज्ञापन पर हंगामा?

विज्ञापन पर हिंदू संगठनों ने सवाल उठाए और बैन करने की मांग की। वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया की इंडियन सोसायटी के प्रवक्ता नितिन वशिष्ठ ने कहा- इस तरह की मार्केटिंग स्ट्रैटजी से हमारी कम्युनिटी खफा है और इसकी निंदा करती है। सोशल मीडिया पर भी विज्ञापन पर लोगों ने निंदा की।

 शिरोमणी अंशुमन दहिया जी (7)

विज्ञापन बनाने वाली कंपनी MLA ने कहा है कि ,

इस विज्ञापन के जरिए धार्मिक विविधता को दिखाया गया है। इस विज्ञापन में किसी ऐसे एक्ट को प्रमोट नहीं किया जा रहा है, जिससे किसी की निंदा हो, उसका अपमान हो या पक्षपात किया जाए। ये पूरी तरह से काल्पनिक है, जिसमें मजाकिया लहजे में कई धर्मों के देवताओं और आइकन्स को डिनर टेबल पर दिखाया गया है। इसमें दिखाया गया है कि ऐसे कई मसले हैं जिनमें विभिन्न धर्मों का नजरिया अलग हो, लेकिन लैम्ब मीट उन्हें साथ लगा सकता है।

 

MLA ने कहा,

हिंदुओं की धार्मिक मान्यताओं में मीट को प्रतिबंधित नहीं किया गया है। हालांकि, कई हिंदू धार्मिक मान्यताओं के चलते बीफ (गाय का मीट) नहीं खाते हैं, लेकिन लैम्ब मीट के बारे में ऐसा कुछ नहीं है। हम यहां बताना चाहेंगे कि विज्ञापन में गणेश को लैम्ब मीट खाते हुए या अल्कोहल पीते हुए कहीं नहीं दिखाया गया है। ऐड में गणेश का कैरेेक्टर प्ले करने वाला शख्स हिंदू है।


एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स ब्यूरो को मामले की जांच सौंपी गई थी। ASB बोर्ड ने कहा,

विज्ञापन में किसी भी कैरेक्टर का गलत ढंग से नहीं दिखाया गया है। ना ही इस ग्रुप को इस तरह से दिखाया गया है कि किसी एक कैरेक्टर का अपमान हो, मजाक उड़ाया जाए या घृणा की जाए। ऐड में किसी भी धार्मिक आचार संहिता को तोड़ा नहीं गया है।

 यहां देखें विवादित विज्ञापन ---


author

कमेंट करें