राजनीति

लोकसभा में बोले राजनाथ-संवैधानिक ढांचे के टूटने की ओर संकेत कर रही बंगाल की घटना

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1603
| फरवरी 4 , 2019 , 13:48 IST

पश्चिम बंगाल में रविवार को सीबीआई अफसरों के कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंचने का मामला सोमवार को लोकसभा में भी छाया रहा। सीबीआई की कार्रवाई का विरोध करते हुए विपक्ष ने इसपर जमकर हंगामा किया। वहीं केंद्र सरकार की तरफ से गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सफाई दी।

इस दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सीबीआई मुद्दे पर कहा कि कल कोलकाता में सीबीआई अधिकारियों को उनकी ड्यूटी करने से रोका गया और ऐसी घटना देश के इतिहास में कभी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि चिटफंड घोटाले के आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण दिया जा रहा है। गृह मंत्री ने कहा कि सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है और इसी वजह से सीबीआई को कमिश्नर के घर जाना पड़ा। इस घोटाले में कई नामचीन और राजनीतिक लोगों के होने का पता चला है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सारदा घोटले का जिक्र करते हुए कहा कि लाखों लोगों की गाढ़ी कमाई को हड़प लेने वाली कंपनी के खिलाफ सीबीआई को जांच की इजाजत सुप्रीम कोर्ट से मिली थी और मामले की पूछताछ के लिए ही सीबीआई की टीम रविवार को राजीव कुमार के घर पहुंची थी। राजीव के घर पर CBI के पहुंचने को लेकर राजनाथ ने कहा कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे और लगातार समन के बावजूद पूछताछ में हिस्सा लेने नहीं आए थे इसलिए CBI ने राजीव कुमार के घर जाकर पूछताछ करना चाहा।

राजनाथ ने कहा कि देश की कानूनी एजेंसियों के बीच ऐसा टकराव देश के फेडरल और राजनीतिक ढांचे के लिए ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि एजेंसियों को अगर काम करने से रोका जाएगा तो इससे अव्यवस्था पैदा होगी। केंद्र सरकार ने हमेशा राज्यों के अधिकार का सम्मान किया है, पुलिस राज्य का विषय है और राज्यों को भी केंद्र की एजेंसियों का सम्मान करना चाहिए। राजनाथ सिंह ने कहा कि कल जो घटना हुई वह संवैधानिक ढांचे के टूटने की ओर संकेत कर रही है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में राज्यपाल से मेरी बातचीत हुई है और उनसे एक रिपोट भी मांगी है। मुख्यमंत्री को एजेंसियों को काम करने से रोकना नहीं चाहिए।

 


कमेंट करें