नेशनल

BHU में हॉस्टल खाली करने का आदेश, कुलपति बोले- बाहरी छात्र आंदोलन को दे रहे हैं हवा

| 0
401
| सितंबर 24 , 2017 , 19:59 IST

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में छेड़खानी के विरोध में चल रहे आंदोलन को लेकर शनिवार रात पुलिस ने छात्र-छात्राओं पर लाठी चार्ज किया लेकिन इसके बाद भी रविवार सुबह से छात्र-छात्राओं का आंदोलन जारी है। आंदोलन को ध्यान में रलते हुए विश्वविद्यालय को दो अक्टूबर तक बंद कर दिया गया है। वीसी के आदेश पर महिला महाविद्यालय छात्रावास, बिड़ला छात्रावास, मोनादेवी हॉस्टल, राजा राम, लालबहादुर शास्त्री, त्रिवेणी, नरेंद्र देव सहित कई हॉस्टलों को खाली करने का आदेश दे दिया गया है।

एसपी सिटी दिनेश सिंह ने कहा कि हमने हालात पर काबू पा लिया हैं और अभी पूरे परिसर में आठ थानों की फ़ोर्स के साथ पीएसी कई टुकड़ियां लगाई गयी हैं। बीएचयू की घटना पर सीएम योगी भी नजर रखे हुए हैं। इसी दौरान इस मामले पर बीएचयू के कुलपति प्रो.जीसी त्रिपाठी ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। आपको बता दें कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति पहली बार मीडिया के सामने आये और उन्होंने कहा कि छात्रों को शुरुआत में शिकायत विश्वविद्यालय से थी लेकिन अब वो बात नहीं है।

कुछ असमाजिक तत्व विश्वविद्यालय को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि छात्राओं की सुरक्षा की मांग से हम भी सहमत हैं। इसके लिए प्रयास भी किये जा रहे हैं। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने छात्राओं के आंदोलन पर कहा कि बड़ी मात्रा में बाहर से आकर लोग इस आंदोलन को हवा दे रहे हैं।

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में हुई इस घटना पर सीएम योगी ने वाराणसी कमिश्नर से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है। वाराणसी के जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आर के भारद्वाज ने बीएचयू में हुए घटना पर दुख व्यक्त करते हुए छात्र छात्राओं एवं उनके अभिभावको से शांति की अपील की है।


author

कमेंट करें