नेशनल

राजस्थान में OBC कोटा 21% से बढ़कर हुआ 26%, विधानसभा में पारित हुआ बिल

icon सतीश कुमार वर्मा | 0
710
| अक्टूबर 26 , 2017 , 18:20 IST

राजस्थान सरकार ने गुर्जर समेत पांच जातियों को ओबीसी कोटा के तहत पांच प्रतिशत आरक्षण देने का विधेयक पारित कर दिया है। अब ओबीसी आरक्षण 21 % से बढ़ाकर 26% हो गया है। गुर्जर सहित 5 जातियों को चौथी बार अलग से 5% आरक्षण देने के लिए राजस्थान सरकार विधानसभा में ये नया बिल लेकर आई थी। इस पर गुरुवार को मोहर लग गई।

बुधवार को ही पिछड़ा वर्ग नौकरियों और शैक्षणिक संस्थाओं में आरक्षण विधेयक, 2017 विधानसभा में पेश किया गया था। जिस पर गुरुवार को बहस हुई और इस बिल को पास कर दिया गया।

दरअसल, गुर्जरों के 5 फीसदी आरक्षण के लिए लंबे वक्त से राजस्थान में खींचतान चल रही है। यही व्यवस्था करने के लिए बुधवार को चौथी बार सदन में आरक्षण संबंधी संसोधन बिल पेश किया गया।

अब ओबीसी कोटा दो कैटेगरी में बंटेगा। एक में पहले की तरह 21% रहेगा और दूसरी कैटेगरी में 5% गुर्जर सहित इन 5 जातियों के लिए होगा। वहीं, प्रदेश में अभी एससी को 16%, एसटी को 12 ओबीसी को 21% आरक्षण मिलता है। 5% आरक्षण बढ़ाते ही कुल आरक्षण 54% हो जाएगा।

राजस्थान सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के इंद्रा साहनी केस का हवाला देते हुए दलील दी थी कि राज्य की आधी से ज्यादा आबादी अन्य पिछड़ी जातियों की है। ऐसी विशेष परिस्थिति में आरक्षण 50 फीसदी से ज्यादा हो सकता है। लंबे अरसे से राजस्थान का गुर्जर समाज आरक्षण के लिए आंदोलनरत है। कई बार इस आंदोलन ने हिंसक रूप अख्तियार किया है। करीब एक दशक से गुर्जर समाज आरक्षण की मांग को लेकर राज्य में आंदोलन कर रहा है।


author
सतीश कुमार वर्मा

लेखक न्यूज वर्ल्ड इंडिया में वेब जर्नलिस्ट हैं

कमेंट करें