नेशनल

संगीत सोम का विवादित बयान- गद्दारों ने बनवाया ताजमहल, न मिले इतिहास में जगह

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
421
| अक्टूबर 16 , 2017 , 16:28 IST

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले की सरधना सीट से बीजेपी विधायक संगीत सोम एक बार फिर अपने विवादित बयान की वजह से सुर्ख़ियों में हैं। उनका कहना है कि सरकार देश के इतिहास से बाबर अकबर और औरंगजेब की कलंक कथा को इतिहास से निकालने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि गद्दारों के बनाए ताजमहल को इतिहास में जगह नहीं मिलनी चाहिए। हालांकि बीजेपी ताजमहल को देश की धरोहर होने की बात कर रही है।

 

संगीत सोम ने रविवार को मेरठ के गांव सिसौली में एक मूर्ति के अनावरण समारोह में कहा कि ताजमहल को गद्दारों ने बनवाया था, उसका नाम इतिहास में नहीं होना चाहिए। संगीत सोम ने आगे कहा कि ताजमहल बनाने वाले ने अपने पिता को कैद कर डाला था। देश का इतिहास अब तक बिगड़ा हुआ था जिसे सुधारने का काम बीजेपी कर रही है।'

संगीत सोम ने कहा कि ताजमहल को ऐतिहासिक स्थलों में जगह न देने से बहुत लोगों को दर्द हुआ।

सोम ने कहा कि बाबर, अकबर और औरंगजेब जितना देश पर अत्याचार कर सकते थे, उतना उन्होंने किया। अब भाजपा सरकार देश के इतिहास से बाबर, अकबर और औरंगजेब की कलंक कथा को इतिहास से निकालने का काम कर रही है।

औरंगजेब, बाबर और अकबर ने जितना अत्याचार हो सकता था उतना अत्याचार किया जैसे अयोध्या में भगवान राम का मंदिर तोड़कर मस्जिद का निर्माण किया गया था और काशी में भगवान विष्णु का मंदिर तोड़कर मस्जिद का निर्माण किया गया और मथुरा में भगवान कृष्ण का मन्दिर तोड़कर मस्जिद बनाई गई। उन्होंने कहा कि अयोध्या, काशी और मथुरा हम लोगों की आस्था का केंद्र है और इसे ऐसे कोई व्यर्थ नहीं कर सकता।
 
उन्होंने कहा कि कुछ लोग वोट की खातिर देश का अपमान करने का काम करते हैं और वंदे मातरम नहीं कहना चाहते, इंडिया पाक के मैच में इंडिया की हार पर मिठाई बांटने का काम करते हैं।
 
संगीत सोम सिर्फ इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि एसपी नेता आज़म खां द्वारा बनवाई गई जौहर यूनिवर्सिटी आतंकवादियों का अड्डा है। इसको एसपी के शासन में गलत तरीके से मोटा बजट दिया गया, इसकी जांच चल रही है और जांच के बाद कार्रवाई होगी। रोहिंग्या मुसलमानों को भी सोम ने आतंकी बताते हुए देश में शरण न देने की बात कही।

सोम ने कहा कि जिस समय गाजियाबाद में हज हाउस का निर्माण हुआ था, उसी दौरान वहां कांवड़ हाउस भी बनना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया, उसको अब हमारी सरकार में अमल में लाया गया।

बताते चलें कि ताजमहल को उत्तर प्रदेश टूरिज़म बुक में स्थान न दिए जाने पर योगी सरकार की ओर से तुरंत सफाई दी गई थी कि ताजमहल देश की धरोहर है। इसके साथ ही ताजमहल के विकास पर काफी पैसा खर्च किया जा रहा है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें