राजनीति

उन्नाव-कठुआ रेप केस: BJP का आरोप, राजनीति कर रहा है विपक्ष, तुरंत हुई कार्रवाई

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1133
| अप्रैल 13 , 2018 , 16:53 IST

कठुआ और उन्‍नाव रेप केस पर भारतीय जनता पार्टी की सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। लेखी ने कहा कि कठुआ मामले में तो उन्होंने कैंडिल मार्च निकाला लेकिन इसके पूर्व के मामलों के पीड़ितों के पक्ष में ऐसा क्यों नहीं किया।  बीजेपी ने एक तरफ मीडिया पर इन दोनों घटनाओं की बेजा रिपोर्टिंग का आरोप लगाया है। 

उन्होंने कहा कि कठुआ पर जम्मू-कश्मीर भाजपा इकाई ने एक अप्रैल को ही बयान जारी कर अपराधियों पर कार्रवाई की बात कही लेकिन मीडिया ने इसे नहीं दिखाया। उन्होंने उन्नाव मामले को एक निजी रंजिश का मामला करार देते हुए कहा, 'उन्नाव की घटना 10 महीने पुरानी है।

पुलिस ने मैजिस्ट्रेट के सामने महिला का बयान दिलाया है। उस दौरान उसने विधायक का नाम नहीं लिया। लेकिन पीएम और योगी आदित्यनाथ को जो चिट्ठी लिखी गई उसमें विधायक पर आरोप लगा, फिर कार्रवाई हुई।'

भाजपा नेता ने कठुआ और उन्नाव के मामले की असम के एक बलात्कार की घटना से तुलना करते हुए कहा कि उन्नाव का मामला 10 महीने पुराना है, कठुआ की घटना जनवरी की है लेकिन अप्रैल में असम में भी एक घटना हुई। उन्होंने कहा कि पांचवी कक्षा की 12 साल की छात्रा से बलात्कार हुआ और उसे केरोसीन डालकर जलाया गया। इस घटना में शामिल शख्स 21 साल का जाकिर हुसैन था।

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि कुछ लोग इस विषय पर चुप हैं जबकि बाकी विषयों को उछाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी नहीं चाहती कि इन विषयों पर राजनीति हो। उन्होंने कहा कि देश में एक अलग तरीके का वातावरण बनाने की कोशिश है। उन्होंने कहा कि कठुआ रेप केस में भी निष्‍पक्ष जांच हुई है। एसआईटी ने छह से सात लोगों को गिरफ्तार किया है।

निशाने पर राहुल गांधी:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बलात्कार पीड़ितों के समर्थन एक आधी रात को कैंडल मार्च की अगुवाई की। राहुल गांधी की आधी रात को निकाले गए इस मार्च पर लेखी ने पूछा कि क्यों अन्य बलात्कार पीड़ितों के लिए कैंडल मार्च नहीं निकाला गया।

निशाने पर गुलाम नबी आजाद:

मीनाक्षी लेखी ने जम्मू बार असोसिएशन के प्रेजिडेंट सलाथिया के बहाने इस केस से कांग्रेस को जोड़ा। मीनाक्षी ने कहा कि 'एक तरफ बार असोसिएशन के प्रेजिडेंट सलाथिया कह रहे हैं कि न्याय चाहते हैं और दूसरी तरफ हाई कोर्ट को बंद करने की घोषणा की है। सलाथिया गुलाम नबी आजाद के पोलिंग एजेंट थे।' उन्होंने कहा कि अब आप देख लीजिए कैसी राजनीति हो रही है।

गुलाम नबी आजाद ने दिया जवाब:

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने लेखी के बयान का जवाब देते हुए कहा, "हां, जम्मू बार एसोसिएशन के प्रमुख बीएस सलाथिया मेरा पोलिंग एजेंट था, और लाल सिंह (भाजपा जम्मू और कश्मीर मंत्री) कांग्रेस में थे, वे धर्मनिरपेक्ष थे लेकिन भाजपा ने जम्मू और कश्मीर में इतनी बुरी तरह से माहौल बिगाड़ दिया कि ये लोग अब सांप्रदायिक हो गए हैं।


कमेंट करें