मनोरंजन

MOVIE REVIEW: कॉमेडी और सस्पेंस का मिश्रण है इरफान खान की 'ब्लैकमेल'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1699
| अप्रैल 6 , 2018 , 12:32 IST

डायरेक्टर अभिनव देव की फिल्म 'ब्लैकमेल' शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गयी है। इस फिल्म में इरफान खान के साथ कीर्ति कुल्हाड़ी, अरुणोदय सिंह, दिव्या दत्ता भी लीड रोल में हैं। फिल्म ‘ब्लैकमेल’ कॉमेडी थ्रिलर फिल्म है। फिल्म में स्टार्स के जबरदस्त एक्टिंग के कारण फिल्म क्रिटिक्स ने भी फिल्म की तारीफ की है। फिल्म को ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ब्रिलियंट बताया है।

कहानी-

ब्‍लैकमेल कहानी है देव (इरफान खान) की, जो टॉयलेट पेपर बेचता है। खुश रहता है, पत्‍नी (कीर्त‍ि कुल्‍हारी) को भी खुश रखना चाहता है। एक शाम फूलों का गुलदस्‍ता लेकर पत्‍नी को सरप्राइज देने घर जल्‍दी आता है और खुद सरप्राइज हो जाता है। पत्‍नी घर पर दूसरे मर्द रंजीत (अरुणोदय सिंह) के साथ ब‍िस्‍तर पर लेटी होती है। यहां से शुरू होता है ब्‍लैकमेल‍िंग का खेल। देव रंजीत को ब्‍लैकमेल करता है। पैसे मांगता है, कई मजेदार मोड़ आते हैं। देव का ब्‍लैकमेल‍िंग का खेल और लोगों को पता चल जाता है। लोग फ‍िर उसे ब्‍लैकमेल करने लगते हैं। भाग दौड़, छ‍िपना छ‍िपाना यही इस फ‍िल्‍म की यूसपी है। फ‍िल्‍म मजेदार है। आप खूब हसेंगे और आनंद करेंगे।

एक्टिंग-

एक्‍ट‍िंग की बात करें तो इरफान ने एक सेल्समैन और घरेलू पति वाले रोल में शॉलिड परफॉर्मेंस दी है। उनकी ब्लैकमेल की प्लानिंग, एक्शन सीन्स को देखकर हंसी आती है। वहीं अरुणोदय सिंह काफी गुस्‍सैल रोल में दिखे हैं जो कि जबरदस्त उनपर फिट होता है। बीच-बीच में दिव्या भी एंटरटेन करती हैं। वहीं कीर्ति ने भी अपना रोल अच्‍छे से निभाया है।

डायरेक्शन-

फिल्‍म का फर्स्‍ट हाफ थोड़ा धीमा है। प्‍लॉट सेट होने में टाइम लगता है लेकिन इसके बाद का ह्यूमर काफी एंटरटेनिंग है। दूसरे हाफ में हंसी आती है जैसे-जैसे हर प्‍लॉट खुलता है, सीन्स और भी मजेदार होते जाते हैं। डायरेक्टर अभिनव देव ने 'डेल्ही बैली' के बाद एक बार फिर इस कॉमिक जॉनर में हाल आजमाया है जो कि काफी मजेदार है। फिल्म में एक सिचुएशनल ह्यूमर है। क्‍वीन और बजरंगी भाईजान के राइटर परवेज शेख ने बड़े ही बढ़िया तरह से लिखा है। वहीं फिल्म के सीन्स को भी कॉमिक तरह से प्रिजेंट किया गया है। देखा जाए को ओवरऑल ब्‍लैकमेल का ह्यूमर और प्रेजेंटेशन बेहतरीन है।

म्यूजिक-

फिल्म का म्यूजिक अमित त्र‍िवेदी ने दिया है। जो कि कहानी के साथ-साथ चलता है और सीन्स पर फिट बैठता है। इसका एक का गाना 'सटासट' की टाइमिंग और पॉजीशन काफी मेच होती है।

देखें या न देखें-

अगर आपको डार्क और सिचुएशनल ह्यूमर वाली फिल्में पसंद हैं और इरफान खान की एक्टिंग के फैन हैं तो एकबार जरूर आप ये फिल्म देख सकते हैं।


कमेंट करें