राजनीति

राज्यसभा चुनाव में मिली हार के बाद बरसीं मायावती, कहा-2019 बीजेपी के लिए पड़ेगा महंगा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1878
| मार्च 24 , 2018 , 17:59 IST

राज्यसभा चुनाव में मिली हार के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने भाजपा पर जमकर भड़ास निकाली। मायावती ने बीजेपी पर कई आरोप भी लगाए, बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी अपने सरकारी तंत्र का गलत प्रयोग करके हमको हराने के लिए एड़ी चोटी तक का जान लगा दिया।

उन्होने कहा कि बीजेपी ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन के खिलाफ साजिश कर फूट डालने की कोशिश में अतिरिक्त उम्मीदवार को मैदान में उतारा।

मायावती ने दो टूक कहा कि बसपा उम्मीदवार को हराकर बीजेपी सपा के साथ गठबंधन पर कोई असर नहीं डाल पाई है और 2019 के आम चुनाव में उसे इसका परिणाम भुगतना होगा। इस दौरान मायावती ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा, 'योगी सरकार मेरी हत्या करवाना चाहती है और इस तरह हमारे आंदोलन को खत्म करना चाहती है।'

मायावती ने अपनी हार की प्रमुख वजह बीजेपी की अराजकता को बताते हुए कहा कि गोरखुपर और फूलपुर में चुनाव में मिली हार के बाद राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने साजिश रची।

मायावती ने कहा कि बीजेपी के एक दलित विधायक ने अपनी आत्मा की आवाज पर बसपा उम्मीदवार को दिया। वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने राज्यसभा चुनाव में अपनी पार्टी के उम्मीदवार को वोट देने के लिए कांग्रेस और सपा के विधायकों का अभार जताया।

बसपा प्रमुख ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में बसपा उम्मीदवार को शिकस्त देने के लिए बीजेपी ने तमाम हथकंडे अपनाए।

मायावती ने कहा कि सपा की ओर से कोई गलती नहीं हुई लेकिन राजनीतिक अनुभव के लिहाज से सपा मुखिया अखिलेश यादव में तजुर्बे की कमी है। मायावती ने कहा, 'बीजेपी इस भ्रम में न रहे कि वह अगले साल हमें अलग करने में कामयाब रही है। राज्यसभा चुनाव के दौरान की गई साजिश और बसपा की हार का बसपा और सपा गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा और अगले साल होने वाला आम चुनाव बीजेपी को महंगा पड़ेगा।' मायावती ने कहा कि अखिलेश यादव तो राजा भैया के जाल में फंस गए।

इसे भी पढ़ें-: आज से कर्नाटक दौरे पर राहुल गांधी, चामुंडेश्वरी मंदिर में टेका मत्था

मैं उनकी जगह होती तो भले मेरा उम्मीदवार हार जाता लेकिन उनके उम्मीदवार को हारने नहीं देती। उन्होंने कहा कि यह उनके (अखिलेश) अनुभव की कमी है लेकिन मैं उनसे अनुभवी हूँ इसलिए इस गठबन्धन को टूटने नहीं दूंगी।


कमेंट करें