नेशनल

मोदी-आबे ने बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास, 5 साल में दौड़ेगी

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
551
| सितंबर 14 , 2017 , 11:32 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे ने गुरुवार को अहमदाबाद में देश के पहली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया। यह प्रोजेक्ट करीब 1 लाख करोड़ रुपये का है, बुलेट ट्रेन का यह प्रोजेक्ट अहमदाबाद से मुंबई तक का है। इस प्रोजेक्ट को लेकर सरकार का कहना है कि, ये प्रोजेक्ट निर्धारित समय से एक साल पहले यानी 2022 में पूरा कर लिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके जापानी समकक्ष शिंजो आबे ने 1.08 लाख करोड़ रुपये की लागत वाली महत्वाकांक्षी अहमदाबाद-मुंबई उच्च गति रेल परियोजना की आधारशिला रखी। भारत की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखने का समारोह साबरमती रेलवे स्टेशन के पास स्थित एथलेटिक स्टेडियम में आयोजित हुआ।

मोदी और आबे ने बटन दबाकर भारत की क्रांतिकारी रेल परियोजना की शुरुआत की घोषणा की। जापान इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन एजेंसी (जेआइसीए) और केंद्रीय रेल मंत्रालय ने 508 किलोमीटर लंबे गलियारे वाली इस परियोजना के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

इस मौके पर पीएम मोदी ने गुजराती भाषा में अपनी स्पीच की शुरुआत की। पीएम मोदी ने कहा कि मेरे करीबी मित्र शिंजो आबे का बहुत धन्यवाद। मोदी ने कहा कि सपनों का विस्तार ही किसी भी देश को आगे बढ़ाता है, ये न्यू इंडिया है।

पीएम के भाषण के मुख्य बातें

-मैं मानता हूँ कि टेक्नोलॉजी सभी के लिए है। टेक्नोलॉजी का लाभ तभी है जब देश का सामान्य नागरिक भी इसका उपयोग कर सके।

-मुंबई-अहमदाबाद रूट पर एक नया economic system भी विकसित हो रहा है। पूरा area ही एक Single Economic Zone में परिवर्तित हो जाएगा।

-इस हाई स्पीड रेलवे सिस्टम से ना सिर्फ दो जगहों के बीच दूरी कम होगी बल्कि 500 किलोमीटर दूर बसे दो शहरों के लोग भी और पास आएंगे।

-मैं जापान का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूँ जो इस प्रोजेक्ट के लिए तकनीक और आर्थिक मदद के साथ भारत के सहयोग के लिए आगे आया है।

-भारत को ऐसा दोस्त मिला है जिसने बुलेट ट्रेन के लिए 88 हजार करोड़ का कर्ज सिर्फ 0.1 प्रतिशत की ब्याज दर पर देने का वादा किया है।

वहीं, जापानी पीएम शिंजो आबे ने अपनी स्पीच की शुरुआत नमस्कार कर की। आबे ने कहा- मेरे दोस्त नरेंद्र मोदी एक वैश्विक नेता हैं। दो साल पहले उन्होंने बुलेट ट्रेन और न्यू इंडिया का फैसला लिया। मैंने और जापानी कंपनियों ने उनके सपने को पूरा करने के लिए प्रतिज्ञा ली है।

उन्होंने कहा कि भारत से हमारा गहरा रिश्ता है। इसकी मिसाल है कि JAPAN का JA और INDIA का I बनकर JAI बनता है।

आबे ने कहा कि जापान मेक इन इंडिया के लिए तैयार है। अगर हमारी टेक्नोलॉजी और भारत की मेन पॉवर साथ मिलकर काम करें तो भारत दुनिया का कारखाना बन सकता है।

जापानी पीएम ने कहा कि भारत और जापान की दोस्ती सिर्फ द्विपक्षीय नहीं है, ये विश्व व्यवस्था की है। जापान पूरी तरह से भारत के मेक इन इंडिया का समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि मैं और पीएम मोदी जय इंडिया, जय जापान का सपना मिलकर साकार करेंगे।अगली बार जब भारत आऊंगा तो बुलेट ट्रेन में बैठूंगा।

आबे ने कहा- जापान में बुलेट ट्रेन से कोई हादसा नहीं होता है, एक दिन पूरे भारत में बुलेट ट्रेन दौड़ेगी। जापान की बुलेट ट्रेन पूरी दुनिया में सबसे सुरक्षित बुलेट ट्रेन सेवा है।

बता दें कि उम्मीद है कि 1.20 लाख करोड़ का बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट 2022 तक पूरा हो जाएगा। इस ट्रेन के चलने से मुंबई-अहमदाबाद के बीच 500 किलोमीटर की दूरी 2 घंटे में तय की जा सकेगी।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें