खेल

MI ने दर्ज की पंजाब पर रोमांचक जीत, मुंबई के लिए प्लेऑफ की उम्मीदें अभी जिंदा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
835
| मई 17 , 2018 , 08:00 IST

सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल की 60 गेंदों में 94 रनों की बेहतरीन पारी भी किंग्स इलेवन पंजाब को जीत नहीं दिला सकी और मुंबई इंडियंस ने उसे बुधवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए मैच में रोमांचक मुकाबले में तीन रनों से हरा दिया। 

मुंबई ने केरन पोलार्ड (50) की अर्धशतकीय पारी के दम पर 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 186 रन बनाए थे। पंजाब की टीम पूरे ओवर खेलने के बाद पांच विकेट खोकर 183 रन ही बना सकी। 

इस हार ने पंजाब को प्लेऑफ में जाने की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है। अब उसे अपने आखिरी मैच में जीत चाहिए होगी और साथ ही किस्मत के भरोसे भी रहना होगा। 

राहुल जब तक क्रिज पर थे पंजाब की टीम जीत की ओर बढ़ रही थी, लेकिन जैसे ही 18.3 ओवर में जसप्रीत बुमराह ने राहुल को सीमा रेखा के पास बेन कटिंग के हाथों कैच कराया पंजाब की जीत की उम्मीदें न के बराबर रह गईं। 

Tr

पंजाब काफी समय तक मैच में बनी हुई थी। चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेहमान ने अपना पहला विकेट क्रिस गेल (18) के रूप में चौथे ओवर की पांचवीं गेंद पर 34 रनों पर खोया। उन्हें मिशेल मैक्लेघन ने अपना शिकार बनाया। 

यहां से राहुल ने एरॉन फिंच (46) के साथ टीम को जीत की पटरी पर बनाए रखा। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 111 रनों की शतकीय साझेदारी की। इन दोनों के रहते पंजाब की जीत तय लग रही थी, लेकिन बुमराह ने एक बार फिर अपनी टीम के लिए संकटमोचक का काम किया। उन्होंने फिंच को 17वें ओवर की पहली गेंद पर पवेलियन भेजा। फिंच ने अपनी पारी में 35 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके और एक छक्का लगाया। 

यहां से मुंबई की मैच में वापसी हुई जिसमें बुमराह का अहम योगदान रहा है। वह रनों पर अंकुश लगाते हुए पंजाब पर दबाव बना रहे थे। इसी दबाव में राहुल ने बड़ा शॉट खेला जिस पर कंटिग द्वारा लपके गए। राहुल ने अपनी पारी में 10 चौके और तीन छक्के मारे। 

मार्कस स्टोइनिस और युवराज सिंह एक-एक रन बना सके। अक्षर पटेल 10 रनों पर नाबाद रहकर भी टीम को जीत नहीं दिला सके। बुमराह ने चार ओवरों में 15 रन देकर तीन विकेट लिए। मैक्लेघन के हिस्से दो विकेट आए। 

इससे पहले, पंजाब ने टॉस जीतकर मुंबई को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। एक समय मुंबई ने अपने चार विकेट 71 के कुल स्कोर ही खो दिए थे, लेकिन क्रूणाल और पोलार्ड ने अहम समय पर साझेदारी करते हुए 65 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला।

सूर्यकुमार यादव (27) ने अपने बल्ले से एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम को अच्छी शुरुआत दी। हालांकि इस मैच में उनके जोड़ीदार इविन लुइस का बल्ला नौ रन ही बना पाया और वह 3.1 ओवरों में 37 के कुल स्कोर पर एंड्रयू टाई का शिकार बने। 

ईशान किशन ने 12 गेंदों में दो छक्के और एक चौके की मदद से 20 रन बनाए, लेकिन वो अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में असफल रहे। उन्हें टाई ने स्टोइनिस के हाथों कैच करा मुंबई को दूसरा झटका दिया। 

59 के कुल स्कोर पर किशन आउट हुए और अगली ही गेंद पर टाई ने सूर्यकुमार को भी पवेलियन लौटा दिया। उन्होंने अपनी पारी में 15 गेंदों का सामना किया और तीन चौके तथा दो छक्के लगाए। 

कप्तान रोहित शर्मा (6) इस मैच में विफल रहे और अंकित राजपूत की गेंद पर 71 के कुल स्कोर पर युवराज सिंह के हाथों लपके गए। यहां से क्रूणाल और पोलार्ड ने मुंबई के लिए स्कोरबोर्ड चलाने के काम को बखूबी निभाया। 

क्रूणाल की पारी पर ब्रेक स्टोइनिस ने लगाए। वह 136 के कुल स्कोर पर आउट हुए। क्रूणाल ने अपनी पारी में 23 गेंदों का सामना करते हुए एक चौका और दो छक्के लगाए। पोलार्ड ने 15वें ओवर की आखिरी गेंद पर छक्का मार अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन अगले ओवर की तीसरी गेंद पर रविचंद्रन अश्विन ने पोलार्ड को एरॉन फिंच के हाथों कैच कराया। 

इसे भी पढ़ें-: FIFA World Cup 2018 : युवा खिलाड़ियों पर इंग्लैंड ने लगाया दांव, यहां देखें पूरी टीम

हार्दिक पांड्या नौ और कटिंग चार रन ही बना सके। मिशेल मैक्लेघन 11 और मयंक मारकंडे सात रनों पर नाबाद रहे। पंजाब के लिए टाई ने चार ओवरों में महज 16 रन दिए और चार विकेट अपने खाते में डाले। अश्विन ने तीन ओवरों में 18 रन देकर दो विकेट लिए। अंकित और स्टोइनिस को एक-एक विकेट मिले।


कमेंट करें