नेशनल

11 राज्यों के उपचुनावों में बीजेपी गिरी धड़ाम, यहां देखें नतीजे

आशुतोष कुमार राय, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
3105
| मई 31 , 2018 , 16:11 IST

देश के 3 राज्यों की 4 लोकसभा और नौ राज्यों की 10 विधानसभा सीटों पर उप चुनाव के नतीजे आज यानि गुरुवार को आने हैं। यहां 28 मई को वोटिंग हुई थी। लोकसभा की 4 सीटों में यूपी की कैराना, महाराष्‍ट्र की भंडारा-गोंदिया और पालघर और नगालैंड की एकमात्र सीट शामिल है।

उपचुनावों के शुरुआती रुझान के साथ ही सियासी बयानबाजीयां भी शुरू हो गई है। कैराना और नूरपुर में बीजेपी की हार को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर निशाना साधा।

उन्होंने यह भी कहा कि उपचुनाव साफ संकेत हैं कि देश में अब लोग मोदी सरकार को हटाना चाहते हैं। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भी समर्थन के लिए जनता को धन्यवाद दिया।

बता दें कि अब रुझान नतीजों मे परिवर्तित हो रहे हैं और लगातार अलग-अलग जगहों से नतीजे आने भी शुरु हो गए हैं। 

चार लोकसभा सीटें -:
1)-: कैराना, उत्तर प्रदेश
तबस्सुम हसन, रालोद v/s मृगांका सिंह, भाजपा
खाली होने का कारण: भाजपा सांसद हुकुम सिंह के निधन से।

नतीजा-: कैराना लोकसभा सीट पर रालोद प्रत्याशी तबुस्सम हसन को करीब 43 हज़ार वोटों की बढ़त। बीजेपी की मृगांका सिंह की जीत यहां पर मुश्किल लग रही है।

2)-: पालघर, महाराष्ट्र
श्रीनिवास वनगा, शिवसेना v/s राजेंद्र गावित, भाजपा
खाली होने का कारण: भाजपा सांसद चिंतामण वनगा के निधन से।

नतीजा-: बीजेपी उम्मीदवार राजेंद्र गावित ने 40 हजार वोटों से बड़ी जीत हासिल की।

3)-: भंडारा-गोंदिया, महाराष्ट्र
मधुकर कुकड़े, एनसीपी v/s हेमंत पाटले, भाजपा
खाली होने का कारण: भाजपा के बागी सांसद नाना पटोले के इस्तीफे से। वे कांग्रेस में शामिल हो गए।

नतीजा-: गोंदिया-भंडारा लोकसभा सीट पर एनसीपी के मधुकरराव कुकड़े को 3000 वोटों की बढ़त।

4)-: नगालैंड
तोखेयो येपथोमी, एनडीपीपी v/s सी अपोक जमीर, एनपीएफ
खाली होने का कारण: मौजूदा मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो के इस्तीफ से। वे भाजपा के समर्थन वाले नगा पीपुल्स फ्रंट से हैं।

नतीजा-: नगालैंड की एक मात्र लोकसभा सीट पर बीजेपी की सहयोगी एनडीपीपी-पीडीए के उम्मीदवार तोखेहो आगे चल रहे हैं। वह करीब 34,669 वोट से आगे चल रहे हैं।

तेजस्वी यादव ने भी साधा निशाना-:

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, 'जनता के प्रेम, समर्थन और विश्वास के आगे विनम्रतापूर्वक नतमस्तक हूं। यह जनता की जीत है। आप सबों को हार्दिक बधाई और धन्यवाद।' अररिया के जोकीहाट में आरजेडी उम्मीदवार की जीत हुई है। उन्होने कहा कि ये लालूवाद की जीत है।

गठबंधन ने कैराना को बनाया चर्चित-:

इनमें सबसे ज्‍यादा चर्चा कैराना लोकसभा सीट की हो रही है। उत्तर प्रदेश में राजनीतिक रूप से अहम कैराना सीट पर बीजेपी का मुकाबला संयुक्त विपक्ष उम्मीदवार से है। राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी तबस्सुम हसन को सपा, कांग्रेस और बसपा का समर्थन हासिल है जबकि बीजेपी ने हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है।

यह सीट हुकुम सिंह के निधन के बाद खाली हुई है। 2014 के लोकसभा चुनाव में हुकुम सिंह ने यहां करीब 3 लाख वोटों के अंतर से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को हराया था। ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों के बाद यूपी की कैराना लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के बाद बुधवार को 73 बूथों पर फिर से वोटिंग कराई गई।

विधानसभा उपचुनाव-:

1)-: जोकीहाट (बिहार): यहां विधानसभा सीट पर लालू यादव की आरजेडी ने 41224 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की। यहां राजद के उम्मीदवार शाहनवाज आलम 81240 वोट मिले, जबकि जदयू 40016 वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रही।

2-3)-: सिल्ली (झारखंड): सिल्ली में जेएमएम प्रत्याशी सीमा महतो ने जीत दर्ज की और की गोमिया सीट पर जेएमएम उम्मीदवार बबीता देवी ने आजसू के उम्मीदवार को करीब 2000 मतों से हराया।

4)-: चेंगन्नूर (केरल): ये सीट CPM के पास थी। चेंगन्नुर सीट पर CPM उम्मीदवार एस चेरियां ने 20956 वोटों से जीत दर्ज की।

5)-: पलूस कडेगांव (महाराष्ट्र): इस लोकसभा सीट पर एनसीपी के मधुकरराव कुकड़े को 3000 वोटों की बढ़त।

6)-: अंपाती (मेघालय): कांग्रेस के पास थी। इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार मियानी डी शिरा ने 3191 वोटों से जीत दर्ज की।

7)-: शाहकोट (पंजाब): अकाली दल के पास थी। विधायक अजीत सिंह कोहड़ के निधन से खाली हुई। इस सीट पर कांग्रेस के हरदेव सिंह लाडी 38802 वोटों से जीते।

8)-: थराली (उत्तराखंड): भाजपा के पास थी। विधायक मगनलाल शाह के निधन से खाली हुई और फिर इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी मुन्नी देवी ने 1872 वोटों से जीत दर्ज की।

9)-: नूरपुर (उत्तर प्रदेश): भाजपा के खाते में थी। विधायक लोकेन्द्र सिंह के निधन से खाली हुई। जिसको सपा के उम्मीदवार ने ईम-उल-हसन 6211 वोटों से जीत दर्ज की।

10)-: महेशतला (पश्चिम बंगाल): टीएमसी के पास थी। विधायक कस्तूरी दास के निधन से खाली हुई। इस सीट पर टीएमसी के दुलाल दास करीब 55581 वोटों से आगे चल रहे हैं।


कमेंट करें