इंटरनेशनल

मौसम की मार: डीप फ्रीज़र बना अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया में गर्मी से पिघली सड़कें

icon कुलदीप सिंह | 0
1298
| जनवरी 8 , 2018 , 12:02 IST

दुनिया के अलग अलग हिस्से इस वक्त Extreme weather का सितम झेल रहे हैं। एक तरफ जहां अमेरिका और चीन के कई हिस्सों में बर्फ के तूफान ने कहर बरपा रखा है वहीं ऑस्ट्रेलिया में गर्मी के मारे लोगों का हाल बेहाल है।  शिकागो समेत पूरा उत्तर अमेरिका रिकॉर्ड तोड़ ठंड की चपेट में है, वहीं ऑस्ट्रेलिया में गर्मी ने 79 साल के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

शिकागो में -50 डिग्री सेल्सियस तक गिरने से नदियां जम गईं, वहीं सिडनी में 47 डिग्री तक पारा पहुंचने से अबतक का सबसे ज्यादा गर्म दिन रिकॉर्ड किया गया। 

डीप फ्रीजर बना अमेरिका

ठंड का ऐसा कहर है कि नॉर्थ अमेरिका एक डीप फ्रीजर में तब्दील हो गया है और लगभग 10 करोड़ लोग इस जानलेवा ठंड से जूझ रहे हैं। हाल ही में आए बॉम्ब साइक्लोन की वजह से यूएस और कनाडा में लगभग 22 मौतें हो चुकी हैं।

टूटा 80 साल का रिकॉर्ड

लगातार गिरते पारे की वजह से कनाडा और बॉस्टन में कई नदियों के जमने की खबरें आ रही हैं। शिकागो में ठंड ने 80 साल पुराने रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं।

स्पेन में बर्फीले तूफान के बाद करीब हजारों लोग हाइवे पर फंस गए थे। इन्हें मजबूरन अपने गाड़ियां चालू रखकर रात बितानी पड़ी। इसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन कर हाइवे से लोगों को निकाला गया।

सिडनी में गर्मी ने तोड़े रिकॉर्ड 

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में 79 सालों बाद सबसे गर्म दिन रिकॉर्ड किया गया। यहां गर्मी ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है और रविवार को तापमान 47.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इससे पहले 1939 में पारा यहां तक पहुंचा था। तेजी से बढ़ते तापमान से आगे लगने की संभावनाएं काफी बढ़ गई हैं, जिसके बाद पूरे सिडनी में फायर अलर्ट जारी कर दिए गए हैं।


author
कुलदीप सिंह

Executive Editor - News World India. Follow me on twitter - @KuldeepSingBais

कमेंट करें