नेशनल

CBI विवाद: ऑफिसर बस्सी ने कहा- डायरेक्टर अस्थाना के खिलाफ ठोस सबूत

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1414
| अक्टूबर 30 , 2018 , 14:30 IST

सीबीआई अफसर एके बस्सी ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि उनके पास रिश्वतखोरी मामले में जांच एजेंसी के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ ठोस सबूत हैं। बस्सी ने अपने ट्रांसफर ऑर्डर को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। हालांकि, शीर्ष अदालत ने उनकी याचिका पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया। बस्सी सीबीआई अफसरों पर लगे रिश्वतखोरी के आरोपों की जांच कर रहे हैं।

बस्सी ने कहा, ‘‘जांच को प्रभावित करने के इरादे से 24 अक्टूबर को दुर्भावनापूर्ण उनका तबादला अंडमान-निकोबार किया गया। ’’ उन्होंने कहा कि अस्थाना पर लगे आरोप गंभीर हैं।

सुरक्षा बढ़ाने की सना की मांग मंजूर

मंगलवार को ही सुप्रीम कोर्ट में सतीश बाबू सना की याचिका पर सुनवाई हुई। सना ने अपनी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की। इस पर सुप्रीम कोर्ट राजी हो गया। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अगर किसी नागरिक को लगता है कि उसकी जान को खतरा है, तो हम सुरक्षा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि सीवीसी की जांच की निगरानी कर रहे जस्टिस एके पटनायक ही यह मामला देखेंगे। सना को हैदराबाद पुलिस प्रोटेक्शन देगी।

मोइन कुरैशी के मामले की जांच से शुरू हुआ रिश्वतखोरी विवाद

1984 आईपीएस बैच के गुजरात कैडर के अफसर अस्थाना मीट कारोबारी मोइन कुरैशी से जुड़े मामले की जांच कर रहे थे। कुरैशी को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग को आरोपों में पिछले साल अगस्त में गिरफ्तार किया था। जांच के दौरान हैदराबाद का सतीश बाबू सना भी घेरे में आया। एजेंसी 50 लाख रुपए के ट्रांजैक्शन के मामले में उसके खिलाफ जांच कर रही थी। कई बार पूछताछ भी की गई। सना ने सीबीआई चीफ को भेजी शिकायत में कहा कि अस्थाना ने इस मामले में उसे क्लीन चिट देने के लिए 5 करोड़ रुपए मांगे थे। इनमें 3 करोड़ एडवांस दिए गए। 2 करोड़ रुपए बाद में देने थे।


कमेंट करें