नेशनल

CBI-पुलिस के आमने-सामने आने के बाद ममता का धरना जारी, कई पार्टियों का मिला समर्थन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1468
| फरवरी 4 , 2019 , 11:24 IST

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी 'संविधान बचाओ' धरने पर बैठ गई हैं। यह धरना कोलकाता के मेट्रो चैनल के पास चल रहा है। ममता धरनास्थल पर ही कैबिनेट मीटिंग बुला सकती हैं। CBI इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट जाएगी, जहां पश्चिम बंगाल सरकार अपना पक्ष रखेगी। वहीं ममता के इस धरने का कई विपक्षी पार्टियों का समर्थन भी मिला है।

समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल और आम आदमी पार्टी ने एक सुर में मोदी सरकार की निंदा करते हुए ममता बनर्जी का समर्थन किया है। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तो कल कोलकाता भी पहुंच सकते हैं। इनके अलावा, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार, नैशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला, बीएसपी सुप्रीमो मायावती समेत तमाम विपक्षी नेताओं ने ममता से फोन पर बात की और उनके प्रति एकजुटता जाहिर की।

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कोलकाता में सीबीआई की कार्रवाई को 'दुर्भावनापूर्ण' और 'संघीय ढांचे पर हमला' बताया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सार्वजनिक तौर पर सीबीआई की धमकी दी थी, जिसके 24 घंटे के भीतर यह कार्रवाई हुई है। सिंघवी ने साथ में यह भी संकेत दिया कि इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल संसद के बजट सत्र में सरकार को घेरेंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने देश के संघीय ढांचे पर हमला करके यह सुनिश्चित किया है कि संसद सत्र बाधित और अनुत्पादक बना रहे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को आरोप लगाया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तरफ से सीबीआई को निर्देश दे रहे थे। ममता देश के संघीय ढांचे को बचाने के लिए शहर के मध्य में धरने पर बैठ गई हैं।

नाराज ममता ने कहा, "मुझे दुख है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल एजेंसी को निर्देश दे रहे हैं। वह उसे लागू कर रहे हैं, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कह रहे हैं। उन्हें जनता को बताना चाहिए कि यह सही नहीं है।"

ममता की यह प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई है, जब इसके पहले लाउडन स्ट्रीट स्थित कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के सरकारी आवास के बाहर शाम को भारी ड्रामा देखने को मिला। सीबीआई अधिकारियों के एक समूह को शहर के पुलिसकर्मियों ने कुमार के आवास में घुसने से रोक दिया।

कोलकाता के पुलिसकर्मियों ने संघीय जांच एजेंसी के अधिकारियों को कई गाड़ियों में भरकर एक पुलिस थाने भी ले गए। ममता ने कहा, "मैं देश के संघीय ढांचे को बचाने के लिए (शहर के मध्य) धरमतला में धरना शुरू करूंगी।" इसके कुछ मिनट बाद ममता धरने पर बैठ गईं।

 


कमेंट करें