राजनीति

आन्ध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए अनशन पर बैठे चंद्रबाबू नायडू

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1585
| फरवरी 11 , 2019 , 10:05 IST

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने और आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए अन्य वादों को पूरा किए जाने की मांग के साथ यहां 12 घंटे का अनशन शुरू कर दिया है। काले रंग की शर्ट पहने तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष ने आंध्र प्रदेश भवन में 'धर्म पोराता दीक्षा' शुरू किया।

राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद नायडू अन्य तेदेपा नेताओं के साथ आंध्र प्रदेश भवन पहुंचे और बाबा साहेब भीमराव आम्बेडर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद विरोध प्रदर्शन शुरू किया। नायडू के कैबिनेट सहयोगी, सांसद, राज्य के विधायक और छात्र और कर्मचारी समूह और जन संगठनों के नेता भी उनके साथ उपवास पर बैठे हैं।

नायडू के साथ 12 घंटे लंबे विरोध प्रदर्शन में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी भी शामिल हुए हैं। वे राज्य सरकार द्वारा किराए पर ली गई दो विशेष रेलगाड़ियों द्वारा राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे। कई गैर-भाजपा दलों के नेताओं से नायडू से मिलने और उनके साथ एकजुटता व्यक्त करने की उम्मीद है।

बता दें कि टीडीपी राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश से किए गए 'अन्याय' का विरोध करते हुए पिछले साल एनडीए से बाहर हो गई थी। अपनी एक दिन की भूख हड़ताल के अगले दिन वह 12 फरवरी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे। मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों, पार्टी के विधायकों, एमएलसी और सांसदों के साथ धरना देंगे।

राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे। नायडू मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन सौंपेंगे। प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए नायडू ने कहा, 'प्रधानमंत्री ने आंध्र प्रदेश के मामले में 'राज धर्म' का पालन नहीं किया क्योंकि उनकी सरकार ने राज्य को विशेष दर्जा नहीं दिया है।' उन्होंने कहा कि अगर प्रधानमंत्री हमारे लोगों पर निजी हमले करते हैं तो हम भी उसका जवाब देने को तैयार हैं।


कमेंट करें