नेशनल

छत्तीसगढ़ चुनाव: 18 सीटों पर वोटिंग खत्म, 4 बजे तक 57 % मतदान

राजू झा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
1961
| नवंबर 12 , 2018 , 16:55 IST

छत्तीसगढ़ में पहले चरण का मतदान संपन्न हो गया। कुल 18 सीटों पर मतदान शाम पांच बजे तक संपन्न हुआ। ताजा जानकारी के मुताबिक शाम चार बजे तक 47 फीसदी मतदान हुई है। नक्सल प्रभावित इलाका होने के कारण सुरक्षा के इंतजाम काफी पुख्ता किए गए थे।

सुबह 7 बजे 10 सीटों पर मतदान शुरू हुआ, जबकि बाकी 8 सीटों पर 8 बजे से ही मतदान शुरू हुआ। सोमवार को नक्सल प्रभावित आठ जिले के मतदाता मुख्यमंत्री रमन सिंह समेत 190 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मतदाताओं से अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने की अपील की।

बता दें कि कांकेर के कुछ पोलिंग बूथ पर वीवीपैट में दिक्कत आने के कारण वोटिंग कुछ देर के लिए टाल दी गई थी। यहां करीब 4 मशीनों में दिक्कतें आ रही थी। 

वही दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने मतदान के दिन IED ब्लास्ट किया है। ब्लास्ट की वजह से कई जगहों का रास्ता बंद हो गया है।

केंद्र से भेजे गए 65 हजार जवान

राज्य में चुनाव कार्य के लिए केंद्र से लगभग 65 हजार जवानों को यहां भेजा गया है। जिनमें अर्धसैनिक बल और पुलिस बल के जवान शामिल हैं। क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवान लगातार गश्त में हैं तथा पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ भी बेहतर तालमेल बनाकर अभियान चलाया जा रहा है। क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए मोबाइल चेक पोस्ट भी बनाए गए हैं।

इन सीटों पर है मतदान

बता दें कि पहले चरण में विधानसभा क्षेत्र मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोण्डागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोण्टा में सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा. वहीं विधानसभा क्षेत्र खैरागढ, डोंगरगढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव, खुज्जी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकोट में सुबह आठ बजे शाम पांच बजे तक मतदान होगा।

4336 मतदान केन्द्रों पर 31,80,014 मतदाता डालेंगे वोट

प्रथम चरण में कुल मतदान केन्द्रों की संख्या 4336 है। जहां 31,80,014 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 15,57,435 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 16,22,492 है. वहीं 87 मतदाता तृतीय लिंग के हैं। प्रथम चरण में निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए कुल 19079 कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। जो शांतिपूर्ण निष्पक्ष निर्वाचन कराने के लिए मतदान केन्द्रों के लिए रवाना हो चुके हैं।

15 दिन में 3 घटनाओं को अंजाम दे चुके नक्सली

जिन 8 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक निर्धारित है, उनमें राजनांदगांव जिले के 5 विधानसभा क्षेत्र खैरागढ़, डोंगरगढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव और खुज्जी तथा बस्तर जिले के 3 विधानसभा क्षेत्र बस्तर, जगदलपुर एवं चित्रकोट शामिल हैं। राज्य में नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार की घोषणा की है और पिछले 15 दिनों में तीन बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया है।

गत 8 नवंबर को नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर 1 यात्री बस को उड़ा दिया था। इस घटना में 4 नागरिक और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के 1 जवान की मृत्यु हो गई थी। इससे पहले नक्सलियों ने 30 अक्टूबर को दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर में पुलिस दल पर हमला कर दिया था। इस घटना में दूरदर्शन के 1 कैमरामैन और 3 पुलिस जवानों की मृत्यु हो गई थी।

वहीं, 27 अक्टूबर को नक्सलियों ने बीजापुर जिले के आवापल्ली थाना क्षेत्र में सीआरपीएफ के बुलेट प्रूफ बंकर वाहन को उड़ा दिया था. इस घटना में सीआरपीएफ के 4 जवानों की मौत हो गई थी।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं। राज्य में अभी कुल 11 लोकसभा और 5 राज्यसभा की सीटें हैं। छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं. राज्य में कुल 51 सीटें सामान्य, 10 सीटें एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं।

2013 चुनाव में क्या थे नतीजे...

2013 में विधानसभा चुनाव के नतीजे 8 दिसंबर को घोषित किए गए थे। इनमें भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में लगातार तीसरी बार कांग्रेस को मात देकर सरकार बनाई थी। रमन सिंह की अगुवाई में बीजेपी को 2013 में कुल 49 विधानसभा सीटों पर जीत मिली थी। जबकि कांग्रेस सिर्फ 39 सीटें ही जीत पाई थी. जबकि 2 सीटें अन्य के नाम गई थीं।

2008 के मुकाबले बीजेपी को तीन सीटें कम मिली थीं, इसके बावजूद उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी सरकार बनाई। रमन सिंह 2003 से राज्य के मुख्यमंत्री हैं।


कमेंट करें