नेशनल

छत्तीसगढ़: राज्यपाल बलरामजी दास टंडन का निधन, 7 दिन का राजकीय शोक घोषित

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2631
| अगस्त 14 , 2018 , 16:21 IST

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन का मंगलवार को निधन हो गया। उन्हें कार्डियक अरेस्ट आने पर रायपुर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में ही इलाज के दौरान हालत बिगड़ती गई। इसके बाद अस्पताल के आईसीयू में ही अंतिम सांसे लीं। सीएम डॉ. रमन सिंह भी राज्यपाल की हालत जानने अस्पताल पहुंचे। राज्यपाल बलरामजी दास टण्डन के निधन की जानकारी सीएम डॉ. रमन सिंह ने दी। सीएम डॉ. रमन सिंह ने राज्यपाल के निधन पर गहरा शोक जताया है। बलरामजी दास टंडन ने 18 जुलाई 2014 को छत्तीसगढ़ में राज्यपाल पद की शपथ ली थी।

 

7 दिन के राजकीय शोक की घोषणा

राज्यपाल के निधन के बाद मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश में सात दिन का राजकीय शोक घोषित कर दिया है। स्वतंत्रता दिवस  के अवसर पर ध्वजारोहण तो होगा, लेकिन सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे। सीएम ने कहा कि राज्यपाल टंडन का शव आज शाम को करीब छह बजे गृहग्राम चंडीगढ़ के लिए रवाना किया जाएगा। इससे पहले छत्तीसगढ़ में उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। बता दें कि आज सुबह राजभवन अधिकारियों ने बताया कि 15 अगस्त के रिहर्सल में राज्यपाल बीते सोमवार को शामिल हुए थे। आज सुबह करीब आठ बजे अचानक उनकी तबियत बिगड़ गई, जिसके बाद डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। बता दें कि राज्यपाल बलरामजी दास टंडन 90 साल के हो चुके थे। तबीयत खराब होने के कारण उन्हें पहले भी अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका है। राज्यपाल को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद मेडिकल कॉलेज रायपुर सहित पूरे प्रदेश के नामी डॉक्टर्स को अलर्ट मोड पर रखा गया था। करीब 15 डॉक्टरों की टीम जांच कर रही थी।

18 जुलाई 2014 में बलरामजी दास टंडन को छत्तीसगढ़ का गवर्नर बनाया गया था। बलरामजी दास टंडन 1953 में पहली बार अमृतसर म्यूनसिपल कॉरपोरेशन के कॉरपोरेटर बने थे। बलरामजी दास टंडन अमृतसर से चार बार पंजाब विधानसभा के सदस्य चुने गए। टंडन पंजाब सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं और उद्योग, स्वास्थ्य, श्रम और रोजगार जैसे अहम मंत्रालय भी संभाल चुके हैं। 


कमेंट करें