इंटरनेशनल

चीन में भी राष्ट्रगान गाने पर छिड़ी बहस, अपमान करने पर हो सकती है 3 साल की सजा

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
609
| अक्टूबर 31 , 2017 , 17:16 IST

चीन राष्ट्रगान और राष्ट्रीय ध्वज के अपमान करने पर तीन साल की सजा का प्रावधान ला सकता है। अभी तक इसके तहत सिर्फ 15 दिन की सजा दी जाती थी।

चीन की शीर्ष विधायिका ने मंगलवार को देश के आपराधिक कानून के संबंध में एक मसौदा संशोधन पेश किया है, जिसके अंतर्गत राष्ट्रगान का अपमान करने वाले के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई करने का प्रावधान है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) की स्थायी समिति के द्विमासिक सत्र में इस संबंध में संशोधन प्रस्ताव का मसौदा पेश किया गया। ये सत्र सोमवार से शुरू हुआ है।

बता दें कि, राष्ट्रगान कानून एनपीसी स्थायी समिति सत्र में सितम्बर में ही पास हो गया था और इसके सही प्रयोग को सुनिश्चित करने के लिए इसे अक्टूबर में पेश किया गया।

China

जो भी सार्वजनिक जगहों पर विकृत या अपमानजनक तरीके से दुर्भावना के साथ राष्ट्रगान को संशोधित करेगा, बजाएगा या गाएगा, उसे 15 दिनों तक हिरासत में लिया जाएगा और उसपर आपराधिक आरोप तय किए जाएंगे।

एनपीसी स्थायी समिति के विधायी मामलों के आयोग में शामिल वांग चाओयींग ने कहा है कि, जैसा कि आपराधिक कानून में राष्ट्रीय झंडे और राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान करने पर दंड का प्रावधान है, उसी तरह नए कानून में राष्ट्रीय गान का अपमान करने पर सजा का प्रावधान पारित होना चाहिए।

मसौदा संशोधन के मुताबिक, सार्वजनिक जगहों पर राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान करने की सजा का प्रावधान अब राष्ट्रीय गान के अपमान पर भी लागू होगा।

China feature

इस संशोधन से राष्ट्रीय गान का अपमान करने के बाद राजनीतिक अधिकार छीनने, आपराधिक हिरासत में लेने, सार्वजनिक निगरानी के तहत होने से लेकर तीन साल की कारावास की सजा का प्रावधान है।

गौरतलब है कि, चीन का राष्ट्रीय गान 'मार्च ऑफ द वॉलनटियर्स' कवि तियान हान द्वारा लिखा गया था और नी एर. द्वारा लयबद्ध किया गया था। इसे साल 1949 में देश का राष्ट्रगान बनाया गया था।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें