इंटरनेशनल

चीन की बॉर्डर सुरक्षा नीति में बड़ा बदलाव, भारत सीमा पर सिर्फ PLA जवान होंगे तैनात

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1125
| मार्च 22 , 2018 , 15:17 IST

चीन ने अपनी बॉर्डर सुरक्षा नीति में बड़ा बदलाव करते हुए बॉर्डर इलाकों का पूरा कंट्रोल पीपल्स लिब्रेशन आर्मी (PLA) को देने का फैसला किया है जिससे भारत समेत दुनिया के कई देशों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

इससे पहले ये जिम्मेदारी सीमा पुलिस के पास थी। साफ है कि चीन के इस फैसला का सीधा असर भारत पर पड़ेगा, इससे पहले भी बॉर्डर पर भारत और चीन के सैनिक कई बार आमने-सामने आते रहे हैं। ऐसे में चीन का ये फैसला भारत की चिंताओं को बढ़ा सकता है।

खबर तो यह भी आई थी कि डोकलाम इलाके में चीन फिर से सड़क और अन्य सैन्य जरूरत का बुनियादी ढांचा तैयार कर रहा है। यही नहीं, चीन की सेना पीएलए इस इलाके में एक मोड़दार सड़क बनाकर भारतीय चौकी से बचने की कोशिश कर रही है।

दरअसल, पीएलए का सीधा नियंत्रण चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के हाथ में रहता है। और पिछले कुछ दिनों में जो भी रिफॉर्म किए हैं वो इसी प्रकार किए गए हैं जिससे सारी ताकत कम्युनिस्ट पार्टी के हाथ में आ जाए। शी जिनपिंग की अगुवाई में अब विदेश नीति, रक्षा नीति, सुरक्षा नीति समेत अहम फैसले कम्युनिस्ट पार्टी ही लेती है। बुधवार को चीन की संसद का आखिरी दिन था, इससे पहले सीमा पुलिस की जगह पीएलए को नियंत्रण देने का आदेश दिया गया।

हालांकि, इससे पहले भी पीएलए बॉर्डर इलाकों में तैनात रहती थी, लेकिन सीमा पुलिस मुख्य रूप से पोर्ट, बॉर्डर प्वाइंट्स इलाकों में मौजूद रहती थी। इससे पहले सीमा पुलिस सीधे पब्लिक सिक्युरिटी मंत्रालय को रिपोर्ट करता था, लेकिन दिसंबर के बाद से सीमा पुलिस भी पीएलए को रिपोर्ट करने लगी। अब नए रिफॉर्म के तहत पीएलए को बॉर्डर का चार्ज पूरी तरह से मिल जाएगा।

पिछले कई दिनों में चीन ने अपनी नीतियों में बड़े बदलाव किए हैं। चीनी संसद ने हाल में राष्ट्रपति पद के लिए किसी लिमिट को खत्म कर दिया है, जिससे शी जिनपिंग को उम्रभर राष्ट्रपति बने रहने में आसानी होगी।


कमेंट करें