नेशनल

चीन की दुनिया भर के नेताओं को धमकी, दलाई लामा से मिलना 'बड़ा अपराध' माना जाएगा

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1439
| अक्टूबर 21 , 2017 , 15:39 IST

चीन ने दुनिया भर के नेताओं को बौद्ध धार्मिक गुरु दलाई लामा से मिलने को लेकर बड़ी चेतावनी दी है। चीन ने शनिवार को कहा कि यदि कोई नेता दलाई लामा से मिलता है या उनकी मेजबनी करता है तो यह एक 'बड़ा अपराध' है क्योंकि वह एक अलगाववादी नेता हैं और तिब्बत को चीन से अलग करने की साजिश कर रहे हैं।

चीन ने कहा है कि  वे तिब्बत के धर्मगुरु दलाई लामा को ना तो अपने देश में आने दें और ना ही उनसे मिलने जाएं। यह बात चीनी नेता झांग यीजियोनग ने कही है। वह चीन की सत्ताधारी पार्टी कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (CPC) युनाइटेड फ्रंट वर्क डिपार्टमेंट के कार्यकारी उपाध्यक्ष हैं। कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना की पांच साल में एक बार होने वाली बैठक में यीजियोनग ने कहा कि अगर कोई देश या संस्था दलाई लामा से मिलता है तो हमारी नजर में यह चीनी लोगों की भावनाओं को तोड़ने वाला बड़ा अपराध होगा।

Dalai-Lama1

यीजियोनग ने दलाई लामा पर तिब्बत को चीन से तोड़ने की मंशा रखने वाला बताकर कहा कि सभी देशों और उनके प्रमुखों को समझना होगा कि तिब्बत चीन का हिस्सा है। यीजियोनग ने दावा किया कि दलाई लामा धार्मिक संगठन की जगह राजनीति करते हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि तिब्बत के बौद्ध धर्म का उद्भव चीन से ही हुआ है।

गौरतलब है कि दलाई लामा ने 1959 में अपने कुछ शिष्यों को लेकर तिब्बत छोड़कर भारत में शरण ले ली थी, वह तब से भारत में रह रहे हैं। हाल में भारत ने दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में लोगों से मिलने की इजाजत दी थी जिसपर चीन चिढ़ गया था। दरअसल, चीन अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों को विवादित बताता रहा है।


कमेंट करें